Think and Grow Rich Book Summary in Hindi

Think and Grow Rich Book Summary in Hindi : दोस्तो दुनिया का हर इंसान अपनी जिंदगी में कामयाब बनने और कुछ बड़ा करने की इच्छा रखता है, लेकिन कुछ लोग ही ऐसे होते है जो की लाइफ में सफलता की बुलंदियों को छू पाते हैं। दोस्तो असल में कोई भी इंसान सफलता की सीडीया तभी चढ़ पाता है, जब उसे सफलता पाने का सही तरीका पता हो।

और यह चीज हमे एक किताब से बेहतर और कोई नहीं सीखा सकती है, इसीलिए आज हम इस आर्टिकल के जरिए आपके साथ Think and Grow Rich Book Summary in Hindi में शेयर करने वाले हैं जो की एक ऐसी किताब है जो नाकी आपके नॉलेज को बढ़ाती हैं बल्कि साथ ही आपको सफलता की सीडियो पर चढ़ने का मंत्र भी बताती हैं।

Think and Grow Rich Book Summary in Hindi

Contents hide
4 Think and Grow Rich Book Summary in Hindi | सोचिए और अमीर बनिए

Think and Grow Rich Book आपको क्यों पढ़ना चाहिए?

दोस्तो क्या आप अपने जीवन में खुशी लाना चाहते हैं और निराशा को दूर करके आशा की नई किरण जगाना चाहते हैं? तो यह Think and Grow Rich Book Summary in Hindi आर्टिकल आपके लिए ही हैं। दोस्तो यह एक ऐसी किताब है जो आपके जीवन में कुछ नया और बड़ा करने केलिए आपको प्रेरित करती है।

थिंक एंड ग्रो रिच किताब किन लोगों के लिए है?

  • वे लोग जो सफल और कामयाब बनने का रहस्य जानना चाहते हैं?
  • वे लोग जो सफल और कामयाब लोगों की तरह सोचना सीखना चाहते हैं।
  • वे लोग जो खुद पर भरोसा करना सीखना चाहते हैं।
  • वे लोग जो किसी कारण से अपनी मंजिल को हासिल नहीं कर पा रहे हैं।

सोचिए और अमीर बनिए किताब के लेखक के बारे में..

दोस्तो इस किताब के लेखक नेपोलियन हिल जी हैं, जो एक अमेरिकन लेखक है और उनकी सबसे पॉपुलर बुक “थिंक एंड ग्रो रिच” के लिए जाने जाते हैं। उनके द्वारा 1937 में लिखी गई यह किताब आज भी कामयाबी पर लिखी गई दुनिया की सबसे टॉप 10 किताबों में से एक मानी जाती हैं।

Think and Grow Rich Book Summary in Hindi | सोचिए और अमीर बनिए

दोस्तो थिंक एंड ग्रो रिच (सोचिए और अमीर बनिए) किताब को लिखने से पहले लेखक नेपोलियन हिल जी ने 500 से भी ज्यादा सफल और कामयाब लोगों के इंटरव्यू लिए थे और तब जाकर उनको सफल होने का सीक्रेट (रहस्य) मिल गया था। इस किताब में लेखक नेपोलियन हिल जी ने अमीर बनने के लिए 13 स्टेप्स बताए हुए हैं।

दोस्तो नेपोलियन हिल जी का अमीर बनने का मतलब यह नहीं है की सिर्फ पैसा कमाना बल्की उनका अमीर बनने का मतलब यह है की आप जो भी काम करे उसमे आपको सफलता, खुशी और Satisfaction मिले। तो दोस्तो चलिए जानते हैं इस किताब में लिखे उन प्रिंसिपल्स के बारे में जिन्हें फॉलो करके दुनिया भर के ना जाने कितने लोग सक्सेस यानी सफलता हासिल कर चुके हैं।

कुछ बड़ा हासिल करने के लिए हमारे अंदर एक बड़ी ख्वाइश होनी चाहिए।

दोस्तो हर कोई अमीर और कामयाब बनना चाहता है लेकिन सिर्फ कुछ लोग ही अमीर और सफल व्यक्ति बन पाते हैं। दोस्तो आपने कभी इसकी वजह जानने की कोशिश की है? कामयाब लोग इसीलिए कामयाब होते है क्योंकि उनके अंदर कामयाबी की चाहत बहुत ही ज्यादा होती हैं। वे लोग इसके लिए किसी भी हद से गुजर ने केलिए तैयार रहते हैं।

दोस्तो इस दुनिया में जो कुछ भी होता हैं वो सिर्फ Desire (इच्छाशक्ति) से ही होता है। जैसे आपकी यह आर्टिकल पढ़ने की इच्छा हुई इसीलिए आप इस समय यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं। इसीलिए दुनिया का हर एक काम इंसान के इच्छा से ही होता है और आमतौर पर Desire एक ऐसी चीज है, जो आती जाती और समय के साथ बदलती रहती है। लेकिन दोस्तो एक चीज जो एक इंसान को उसका लक्ष हासिल करने में मदद करती है, वो होती है उसकी Burning Desire यानी कि तीव्र इच्छा शक्ति…

दरअसल जब किसी इंसान के अंदर यह Burning Desire आ जाती है तब वह इंसान खाना पीना और सोना सब भूल जाता है और वो अपने पूरे सिद्धत के साथ अपने Desire को पूरा करने में जुट जाता हैं। दोस्तो असल में कोई भी व्यक्ति चाहे तो अपने किसी भी चाहत को बार बार सोचकर या बार बार उसके बारे में पढ़कर उसको अपनी तीव्र इच्छा शक्ति (Burning Desire) बना सकता है।

दोस्तो इस किताब के लेखक कहते है की अगर किसी व्यक्ति के अंदर किसी चीज की burning desire है, तो उसको वह चीज हासिल करने में कोई भी नही रोक सकता है। अगर आपको भी अपने लाइफ में सफलता प्राप्त करनी है तो आपको भी आपके नॉर्मल डिजायर को बर्निग डिजायर में convert करना होगा।

दोस्तो में आपको एक उदाहरण से समझता हूं : कर्नल सेंडर्स जी अपने रिटायरमेंट के बाद Chikan की रेसिपी को लेकर घर घर में ऑर्डर मांगने गए और उनको लगभग 1000 घर के दरवाजो से ना सुनने के बाद उन्हें उनका पहला ऑर्डर मिला और उसी के बाद KFC नाम की Food Company की शुरवात हुई, जो आज दुनियाभर में फेमस है।

दोस्तो उसके बाद अगला प्रिंसिपल है..

खुद पर भरोसा करना कामयाब लोगों की सबसे बड़ी विशेषता होती है।

दोस्तो मान लीजिए की किसी इंसान के अंदर किसी चीज को हासिल करने की Burning Desire तो है, लेकिन उस इंसान को नाही प्रकृति पर और नाही खुद पर यह विश्वास है की वो वह अपने इस लक्ष को हासिल कर पाएगा और उसके अंदर यह डाउट है की में यह काम कर पाऊंगा भी या नहीं? तो आप भी बताइए की क्या वह इंसान अपने उस लक्ष को हासिल कर सकता है?

दोस्तो ऐसी स्थिति में वह इंसान किसी भी लक्ष को हासिल नहीं कर पाएगा क्योंकि इतिहास गवाह है की दुनिया भर में जो भी लोग आज तक सफल हुए हैं उनके अंदर विश्वास (Faith) और खुद पर भरोसा था। इसीलिए हर इंसान को प्रकृति और खुद पर पूरा भरोसा करके ही अपने लक्ष की ओर बढ़ना चाहिए और अपने मन में यह विश्वास रखते हुए हमेशा यह सोचना चाहिए की सब कुछ अच्छा ही होगा।

क्योंकि दोस्तो ऐसी सोच रखने वाला ही व्यक्ति हमेशा सफल होता हैं नाकी खुद पर संदेह करने वाला व्यक्ति… दोस्तो में आपको एक रीयल लाइफ एग्जांपल देकर समझाता हूं।

दोस्तो थॉमस अल्वा एडीसन जी बल्ब को बनाने में 10000 बार फैल हुए लेकिन फिर भी उनका खुद पर से थोड़ा भी विश्वास नहीं उठा और वे बार बार कोशिश करते रहे। उसके बाद वे आखिर बल्ब को बनाने में कामयाब हो ही गए और इतिहास के पन्नो में अपना नाम लिख दिया।

दोस्तो खुद पर भरोसा करने में बहुत ताकत है, ये आपसे कुछ भी करवा सकती है। तो दोस्तो अगर आपको अपनी मंजिल तक पहुंचना है, तो आपको खुद पर भरोसा करना अभी से ही शुरू करना चाहिए।

अपने बारे में खुद से अच्छी बाते करके आप अपने वव्यहार को बदल सकते हैं.

दोस्तो हर कोई खुद पर भरोसा करना सीख सकता है। अगर आप हर दिन खुद से यह कहते रहे की आप यह काम कर सकते है, तो एक समय ऐसा आएगा की वाकई में आप उस काम को करने के काबिल हो जाएंगे। दोस्तो खुद से एसे बात करने को auto suggestion कहा जाता हैं।

दोस्तो auto suggestion का मतलब खुद अपने आपको सलाह देना होता हैं। यानी की खुद से ही बार बार ऐसी कोई बात कहना की आप खुद उस बात को सच मानने लगें। असल में आपके माइंड को आपसे बेहतर और असरदार सलाह कोई और नही दे सकता। उदाहरण के लिए अगर आप खुद से रोज यह कहने लगे की तू दुनिया में कुछ अलग और बड़ा करने के लिए पैदा हुआ है तो कुछ ही समय में आपका माइंड आपके इस सजेशन को सच मानने लग जायेगा।

फिर उसके बाद आपके माइंड में खुद को लेकर एक विश्वास बन जायेगा की आप लाइफ में कुछ अलग या बड़ा जरूर करेंगे। तो दोस्तो इस किताब के आधार पर नेपोलियन हिल कहते है की कोई भी व्यक्ति जो लाइफ में सफलता प्राप्त करना चाहता है उसके लिए auto suggestion की प्रैक्टिस करना बहुत ही जरूरी होता हैं।

अपनी मंजिल को हासिल करने केलिए ऑर्गनाइज प्लानिंग करे।

दोस्तो बहुत बार ऐसा होता है की लोगों के पास अपने गोल्स अचीव करने के लिए बर्निग डिजायर, खुद पर विश्वास और ज्ञान यह सब तो होता है लेकिन फिर भी वे लोग सालो साल कड़ी मेहनत करने के बावजूद भी अपने लक्ष को हासिल नहीं कर पाते हैं। क्योंकि दोस्तो उन लोगों के पास चीजों को सही ढंग से करने की नॉलेज नही होती है।

दोस्तो वे लोग नही जानते की कैसे अपने स्किल्स को निखारा जाए और कैसे अपने प्रोडक्ट्स को बेहतर बनवाया जाए और कैसे इसे दुनिया तक पहुंचाया जाए। यानी की क्या करना है, कितना करना है, कब करना और कैसे करना है? इन सब की नॉलेज होना ही ऑर्गनाइज प्लानिंग कहलाया जाता हैं। ऑथर नेपोलियन हिल जी कहते हैं की दुनिया का कोई भी व्यक्ति बिना ऑर्गनाइज प्लानिंग के कभी भी कामयाब नही हो सकता।

दोस्तो आपको कामयाबी तभी मिलेगी जब आपको पता होंगा कि आप क्या हासिल करना चाहते हैं? इसके पहले यह सोचिए की आपको कहा जाना है और कहा तक जाना है। चलिए में आपको एक उदाहरण प्रस्तुत करके समझाता हूं।

दोस्तो अगर आप एक लेखक बनना चाहते हैं तो आपको यह सोचना है की आपको कितनी बेस्ट सेलिंग बुक लिखनी हैं और इसके बाद यह सोचिए की कब से कब तक आप इस मंजिल को हासिल करना है।

अगर आपने बस यह सोच लिया है की आपको करना है लेकिन यह नही सोच लिया है की कब तक करना है और कैसे करना है तो इसका मतलब यह है की आप उसे करने के लिए बाद में टाल रहे हैं। जो आपको आपके लक्ष तक पहुंचने नही देगा।

अंत में आपको यह तय करना होगा कि किस तरह से आप अपने मंजिल तक पहुंचेंगे। आप हर कदम को तफसील से लिखिए और सोचिए की कब आपको क्या करना और कैसे करना है। ये काम आप जितना फैलाकर करेगे उतना ही आपके लिए बेहतर होगा। जब आपको आपका बेहतर प्लान मिल जायेगा तो आप उस पर फौरन उस पर काम करना शुरू कर दीजिए।

जब आपके पास आपका पूरा प्लान आ जायेगा तो उसे किसी कागज पर लिख लीजिए और दिन में दो बार उसे पढ़िए- सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले। ऐसा करके आप अपने काम पर एक नजर रख सकते है और उसे करने केलिए खुद को मोटिवेट कर सकते हैं।

कुछ बड़ा हासिल करने केलिए आपको मास्टर माइंड लोगों के ग्रुप में रहना होगा।

दोस्तों मास्टर माइंड जिसे थिंक टैंक भी कहा जाता हैं। यह लोगों का ऐसा ग्रुप होता हैं जो अपने अपने फील्ड के एक्सपर्ट होते हैं। उदाहरण केलिए दुनिया के जितने भी बिसनेस मैन है ना, वो अपना कोई भी अहम डिसीजन लेने से पहले वो उसकी चर्चा एक ऐसे व्यक्ति से करते हैं जो उस फील्ड में एक्सपर्ट होता हैं।

जैसे की अगर उन्हें पैसे से रिलेटेड कोई भी डिसीजन लेना होता है तो उसको वो किसी फाइनेंशियल एक्सपर्ट व्यक्ति के साथ में ही डिस्कस करते हैं। अगर उन्हें मार्केट से रिलेटेड कोई डिसीजन लेना होता हैं तो वो मार्केटिंग एक्सपर्ट से ही सलाह लेते हैं।

दोस्तो यानी की उनके पास हर एक फील्ड से जुड़ा हुआ एक एक्सपर्ट होता हैं और यही सब एक्सपर्ट आपस में मिलकर ही एक मास्टर माइंड ग्रुप कहलाते है। इसीलिए ऑथर कहते है की हर इंसान के पास ऐसा एक मास्टर माइंड ग्रुप होना चाहिए अगर उसे लाइफ में गलत डिसीजन लेने से बचना है तो।

दोस्तों मास्टर माइंड ग्रुप में काम करने के अपने अपने फायदे होते है, लेकिन ये फायदे अकेले काम करने के फायदों से कई ज्यादा होते है। दोस्तो आपका लक्ष जितना बड़ा होगा उतना उस प्लान पर काम करना उतना ही मुश्किल होगा। इसीलिए खुद के लिए एक मास्टर माइंड टिम बनाइए। जिससे आपको अपने लक्ष को हासिल करने में आसानी होगी और बहुत ही कम समय मे आप उस लक्ष को हासिल कर पाएंगे।

दोस्तो आप अपने टीम में ऐसे लोग रखिए जो एक ही मंजिल को हासिल करने के लिए काम करना चाहते हैं। जब कुछ लोगों के टॅलेंट, काम करने की क्षमता, मेहनत और लगन जब एक साथ मिल जाती है तब ऐसी सफलता मिलती है जो एकेले काम करने से नही मिल सकती है।

दोस्तो ध्यान रहे की इस टीम में सिर्फ बुद्धिमान लोगो का होना बहुत जरूरी है। उन लोगो के बिच का संबंध अच्छा होना चाहिए। अगर आपकी टीम में ऐसे लोग होंगे जो एक दूसरे से लड़ते झगड़ते है, तो आप वहा तक कभी पहुंच नही पाएंगे जहा आपको पहुंचना है। इसीलिए अपने मास्टर माइंड ग्रुप के मेंबर्स को सोच समझकर चूस किजिए।

कामयाब होने के लिए अच्छी सोच रखिए

दोस्तो हमारा चेतन मन अच्छी और बुरी चीजों में फर्क करना जानता है। इसीलिए वो सिर्फ अपनी काम की चीजों को अपने पास में रखकर बेकार चीजों को निकाल फेकने की ताकत रखता है। लेकिन हमारे अवचेतन मन के साथ ऐसा नहीं है। वो अच्छी और बुरी इन दोनो बातो को अपने पास ही रखता है। इसीलिए यह जरूरी है की आप खुद को बुरे लोगो और बुरी चीजों से दूर रखे।

दोस्तो हमारा अवचेतन मन हर तरह की जानकारी सेव करता है, जिसकी वजह से हमारा व्यवहार समय के साथ वैसा ही हो जाता हैं। अगर आप एक दो महीने तक किसी बदजुबान लोगों के साथ रहे तो आप न चाहते हुए भी आपके मुंह से गालियां निकलने लगेगी। क्योंकि दोस्तो नाकामयाब लोगो के साथ रहने से और उनकी बाते सुनने के वजह से आप समय के साथ साथ वैसे ही बन जाते है।

आप संगति के असर से नही बच सकते, बुरी संगत से आपकी आदतें भी बुरी हो जाएंगी, जिस कारण आप सफल और कामयाब नही बन पाएंगे। अगर आप चाहते हैं की आपका व्यवहार अच्छा हो तो आप अच्छा सोचिए और अच्छे लोगों के साथ संगत कीजिए। ऐसा करने से आपका व्यवहार अच्छा हो जाएगा और आप सफल और कामयाब आदमी बन जायेंगे।

कामयाब और सफल लोगों की सबसे बड़ी विशेषता उनकी इच्छाशक्ति होती है।

बहुत सारे लोग अपने लिए गए फैसले पर ज्यादा दिन टिक नहीं पाते हैं और ये वही बहुत से लोग है जो असफल है। वे मुश्किल वक्त में वे अपने लिए गए फैसलो को छोड़ देते हैं और उस काम पर ध्यान देते हैं जो उनके लिए लंबे समय केलिए फायदे मंद नही है। अगर आप अपनी कही बातो पर टिक नही रहे है तो आप कामयाब और सफल नहीं बन सकते हैं।

उदाहरण केलिए हेनरी फोर्ड जी को ही ले लीजिए, जो अपने फैसलों पर टिके रहने केलिए दुनिया में जाने जाते है। वे अपने इंजीनियर्स को V8 Engine बनाने के लिए कह रहे थे, और उनके इंजीनियर्स के हिसाब से एसा इंजन बनाना असंभव सा था। लेकिन हेनरी फोर्ड जी ने कहा की मुझे वह इंजन किसी भी हालत में चाहिए ही चाहिए और अंत में वह इंजन बन ही गया, जिसकी जिद्द हेनरी फोर्ड जी ने की थी…

दोस्तो कामयाब होने केलिए जिद्दी होना बहुत ही जरूरी है। लोग हमेशा आपसे यह कहते रहेंगे की आप यह काम नही कर पाएंगे। लेकिन आपको ऐसे लोगो की बाते ना सुनने में ही आपकी भलाई है। अगर आप सबके विचारो के हिसाब से चलते रहेंगे तो कुछ भी नही कर पाएंगे। अगर इस तरह के लोगों की वजह से आपका हौसला कम होता हैं। तो आप अपनी मंजिल के बारे में किसी को भी मत बताइए।

इसके बारे में सिर्फ उन्ही को ही बताए जो आपके बहुत खास है और जो आपके टीम मेंबर है।

सफलता की जंग में सिर्फ जिद्दी लोग ही जीतते हैं।

दोस्तो जब भी हम कोई काम करते हैं तो उसमे मुश्किलें आ जाती है और बहुत से लोग एसी मुश्किलों का सामना नहीं कर पाते हैं और उससे भागते हैं। उन्हें लगता है की इससे उनका काम आसान हो जाएगा लेकिन समय के साथ यह मुश्किले ब्याज के साथ बढकर इन लोगों के सिर पर बैठ जाती है।

सफल आदमी को यह अच्छे से पता होता हैं की वे जब किसी मंजिल को हासिल करने केलिए निकलते हैं, तो उसे पाकर ही चैन की सास ले लेते हैं। दोस्तो अगर आपको कामयाब इंसान बनना है तो आपको “बंद करना” अभी से ही बंद करना होगा। आपको अपने काम में लगे रहना है जब तक आपको सफलता प्राप्त ना हो।

इसके लिए आप नीचे दिए हुए इन ४ आदतों को अपना सकते है।

  1. किसी भी मंजिल को हासिल करने केलिए एक गहरी इच्छा को अपने अंदर पैदा कीजिए।
  2. उस लक्ष को हासिल करने केलिए एक प्लान (योजना) बनाएं।
  3. अपने आप को नकारात्मक लोगों से दूर रखे और उनके साथ उठना बैठना बंद कीजिए।
  4. ऐसे लोगो के साथ संबंध बनाए जो समय आने पर आपको साथ दे, ना की साथ छोड़कर चले जाए।

दोस्तो इन सभी आदतों को अपने अंदर कुछ इस तरह से बैठा लीजिए की इनको खुद से दूर करना असंभव सा हो। तभी आप कुछ करने की जिद्द पकड़ कर आगे चल सकते है।

सफलता के लिए अपनी खूबियों के साथ साथ अपनी कमजोरियो पर भी ध्यान दीजिए।

दोस्तो हम में से बहुत से लोग यह मानने केलिए तैयार ही नहीं है, कि उनके अंदर भी बहुत सी खामिया भी है, जिन्हे सुधार कर वे लोग और ज्यादा आगे बढ़ सकते है। यही चीज हमेशा हमे कामयाब होने से रोकती हैं। इसके लिए आप सबसे पहले खुद के बारे में जानने की कोशिश कीजिए।

खुद के बारे में जानने के लिए आप खुद से कुछ इस तरह के सवाल पूछ सकते है की क्या मैने मेरे इस साल के लक्ष को पूरा किया? क्या में इस साल और ज्यादा काम कर सकता था? क्या में और बेहतर फैसले ले सकता था? इस तरह के सवाल आपको यह बताएंगे की आप कहा गलती कर रहे हैं। इस तरह से आपको यह पता लगेगा की आप किस तरह से खुद को बेहतर बना सकते हैं।

दोस्तों बहुत सी आदतें हम सभी में पहले से होती है, और इन आदतों में आलस करना, आज का काम कल पे टालना, वो काम ना करना जो करना चाहिए ये सभी आदतें शामिल हैं। अपने साथ हमेशा एक काम की लिस्ट रखिए जिसमे आप वो सब काम लिखिए जो आपको करने हैं। अगर आप उसे दिए गए समय के अंदर पूरे नही कर पाए तो समय आ गया है, यह पता करने का की आप कहा गलती कर रहे हैं?

आप किसी और व्यक्ति से अपने खुद के बर्ताव के बारे में पूछ सकते हैं। वो आपका करीबी दोस्त भी हो सकता है, जो आपको करीब से जानता हों। आप दोनो एक दूसरे की कमिया के बारे में बताकर खुद को पहले से बेहतर बना सकते हैं।

आपकी कल्पना करने की क्षमता ही आपकी काबिलियत है।

दोस्तो अल्बर्ट आइंस्टीन जी ने कहा था की बुद्धिमान होने का मतलब यह नहीं है की आप कितने ज्यादा जानते है, बल्की बुद्धिमान होने का मतलब यह है की आप कितनी कल्पना कर सकते है। कल्पना करना ही एक ऐसा तरीका है जिसके मदद से हम अपने सपनो को आईडियाज में और आईडियाज को हकीकत में बदल सकते है। कल्पनाएं दो तरीके की होती है

Creative Imagination

दोस्तो इस तरह की कल्पना में हम कुछ ऐसा सोचते हैं जो आज तक कभी नही सोचा गया था। इसमें हम कुछ ऐसा बनाने की कोशिश करते हैं, जिसके बारे में आज तक किसी ने भी नही सोचा हो। इसका इस्तमाल बड़े बड़े इंवेंटर्स ने बड़ी बड़ी चीजों को बनाने के लिए किया था।

सिथेंटिक इमेजिनेशन :

इस तरह की कल्पना में हम बहुत सारे पुराने आईडियाज को मिलाकर एक नए आइडिया में बदल देते हैं। दोस्तो इसका इस्तमाल सोनी ने MP3 प्लेअर बनाने केलिए किया था। सोनी ने पत्रकारों के प्लेबैक डिवाइस को एक ऐसे डिवाइस में बदल दिया था, जिसका इस्तमाल कोई भी गाने सुनने केलिए कर सकता था और इसी तरह वॉकमैन का जन्म हुआ।

दोस्तो क्रिएटिव इमेजिनेशन और सिथेंटिक इमेजिनेशन कभी कभी एक साथ काम करती है। उदाहरण केलिए बिल गेट्स को ही ले लीजिए, उन्होंने Windows को खुद नही बनाया था बल्की उन्होंने कुछ प्रोग्रामर्स से खरीदा था और फिर उसकी मदद उन्होंने एक कंपनी बनाई जिसको आज हम माइक्रोसॉफ्ट नाम से जानते है।

अगर आप चाहते हैं की आपकी कल्पना करने की क्षमता बरकरार रहे तो आप समय समय पर कल्पना करते रहिए। आप जितनी ज्यादा कल्पना करेंगे उतनी आपकी कल्पना करने की क्षमता बढ़ेगी। इससे आप समय के साथ और ज्यादा कामयाब बन सकते हैं।

कामयाब होने केलिये आपके पास विशेष ज्ञान होना चाहिए

दोस्तो ज्ञान के आ जाने से बहुत से काम आसान हो जाते हैं। सफल लोग हमेशा अपने ज्ञान को बढ़ाते रहते हैं। क्योंकि वे लोग जानते है कि वे जितना ज्यादा पढ़ेंगे उतने ही वे ज्यादा कामयाब बनते जायेंगें। लेकिन अगर आप पढ़ना छोड़ देंगे तो आप अब जहा है वहा पर ही रह जायेंगे और सफलता आपसे दूर भाग जाएगी।

दोस्तो ज्ञान हासिल करने केलिए आपको किसी युनिवर्सिटी में जाने की जरूरत नहीं है और नाही किसी स्कूल की डिग्री लेनी जरूरत है। दोस्तो आप बिना स्कूल गए भी ज्ञान हासिल कर सकते है और सफल आदमी बन सकते हैं। इसके लिए आपको अगल अलग लेखकों की बुक्स को पढ़िए और बड़े बड़े सफल लोगों के सेमिनार्स अटेंड किजिए।

दोस्तो जानकारी का मतलब यह नही है की दुनियाभर की सभी चीजों को याद करना, बल्की इसका मतलब उस ज्ञान और अनुभव से है, जिसका सही समय आने पर सही इस्तमाल कर सके और खुद को आगे लेकर जा सके। इसके अलावा यह भी जरूरी है कि आप एक्सपर्ट से अपना परिचय रखें, ताकि अगर आपको किसी चीज के बारे में जानना हो तो आप उनसे पूछ सकते हो।

छटा नेत्र

दोस्तो कुछ भी अच्छा या बुरा होने से पहले हमारे दिल और दिमाग में एक ऐसी हलचल होती है और हमारा दिमाग हमे स्पेशल किस्म का सिग्नल देता हैं, जिसको सिक्स सेंस या हिंदी में छटी चेतना भी कहते हैं। दोस्तो दुनिया में सभी लोगो के अंदर सिक्स सेंस होता हैं। लेकिन इसका सही इस्तमाल करना सभी लोगो को पता नहीं है।

दोस्तो दरअसल इंसान को अपने सिक्स सेंस को सही सही से पहचान ने की कोशिश करनी चाहिए। क्योंकि ये आपको लाइफ के अंदर आगे बढ़ने में बहुत अधिक हेल्प करता है। इसके लिए आपको शांत और साफ रहना चाहिए ताकि जब आपका सिक्स सेंस आपके दिमाग को कोई सिग्नल दे रहा हो तब फिर वो आपको साफ साफ समझ में आ जाए।

Conclusion

दोस्तों Think and Grow Rich Book Summary in Hindi आर्टिकल के जरिए आज आपने यह सीखा की हम सब कामयाबी और आजाद होने के किए पैदा हुए थे। लेकिन अपनी सोच की जंजीरों में बंधकर हम नाकामयाबी की जिंदगी जीने केलिए मजबूर हो गए हैं।

कामयाब होने के लिए आपको सबसे पहले खुद पर भरोसा करना सीखना होगा और अपने अंदर कामयाबी की ख्वाइश को जगाना होगा। और उसके बाद अपने काम की प्लानिंग करके और अपने रास्तो पर बिना मुड़े डटकर और चल कर हम सब सफल और कामयाब व्यक्ति बन सकते हैं।

हमारे लोकप्रिय आर्टिकल्स : –

» ज़रूर पढ़िए : रिच डैड पूअर डैड कंप्लीट हिंदी बुक समरी

» जरूर पढ़िए : द अल्केमिस्ट कंप्लीट बुक समरी हिन्दी में

» जरूर पढ़िए : बेबीलॉन का सबसे अमीर आदमी कंप्लीट हिंदी बुक समरी

» जरूर पढ़िए : अमीरी का रहस्य कंप्लीट हिंदी बुक समरी

» जरूर पढ़िए : सीक्रेट्स ऑफ मिलेनियर माइंड कंप्लीट हिंदी बुक समरी

Think and Grow Rich Book in Hindi Pdf Free Download

दोस्तो अगर आप थिंक एंड ग्रो रिच बुक इन हिंदी पीडीऍफ़ डाउनलोड करना चाहते हैं, तो आप नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करके सोचो और अमीर बनो बुक इन हिंदी PDF Download कर सकते हैं।

हिंदी इबुक : डाऊनलोड

दोस्तों अगर आप हमारे ब्लॉग पर पहली बार आए हुए हैं, तो में आपको बताना चाहूंगा कि में इस ब्लॉग पर रोजाना सफल और कामयाब लोगों की बायोग्राफी इन हिंदी में और अच्छी अच्छी किताबों की समरी हिन्दी में पब्लिश करता रहता हूं।

इसीलिए दोस्तो आप हमारे ब्लॉग को नीचे लेफ्ट साइड में दिए हुए घंटी 🔔 के आइकॉन पर क्लिक करके हमारे नॉलेज ग्रो हिन्दी ब्लॉग को Subscribe जरूर किजिए।

दोस्तो फिर मिलेंगे एसे ही एक इंट्रेस्टिंग आर्टिकल के साथ तब तक केलिए जहा भी रहिए खुश रहिए।

धन्यवाद।

Leave a Comment