The Power Book summary in Hindi By Rhonda Byrne

हॅलो दोस्तों, आप सभी का नॉलेज ग्रो ब्लॉग में स्वागत है। में आज आप लोगो को The Power Book summary in Hindi में बता ने वाला हूं। और दोस्तो इस बुक को Rhonda Byrne ने लिखा है। ये बुक इंग्लिश और हिंदी में उपलब्ध है। इस बुक का हिंदी नाम शक्ति है। 

the power book summary in Hindi By Rhonda Byrne


दोस्तो, यह पोस्ट आखिर तक जरूर पढ़े । दोस्तो में ऐसी उम्मीद करता हूं कि आप लोगो को यह आर्टिकल जरूर पसंद आएगा। तो बिना देर किए आपको बताते है The Power Book summary in Hindi में।

What is the power


प्रेम हमारे लाइफ का पोजिटिव सोर्स है , और जब भी हमारे लाइफ में कुछ भी अच्छा होता है, तब उसकी वजह प्रेम ही है। आप जो भी पाना चाहते हो या जो भी आपको मिला है या जो भी आपके पास था उसकी वजह भी प्रेम ही है। जब आप अपनी लाइफ को पोजिटिव सोर्स देते हो तब आपकी लाइफ में अच्छा ही होता है।

जो आपकी लाइफ की नेगेटिविटी को भी दूर कर सकता हैं। आपके लाइफ में हर पल चोइज होती है कि आप किसे प्रेम करे और किसे नहीं। दोस्तो लॉ ऑफ अट्रैक्शन और कुछ नहीं है लॉ ऑफ लव ही है। और यह लव आपके लाइफ को चला रहा है। और इस सच को हमें जितने जल्दी हो सके समझना चाहिए। 

सोचिए अगर इस संसार में प्यार ही ना होता तो क्या होता? दोस्तो अगर इस संसार में प्यार ना होता तो सबसे पहले आप इस दुनिया में आ ही नहीं पाते।  प्रेम के बिना आप पैदा ही नहीं हो सकते थे। सत्य तो यह है कि अगर ऐसा होता तो इस दुनिया में किसी भी जीव का सर्जन इस दुनिया में होता ही नहीं। 

अगर इस दुनिया में से प्यार ही ख़तम हो गया तो इस दुनिया कि जनसंख्या ही काम होने लग जाए गी और एक ना एक दिन पूरी मानव जाति ही खतम हो जाएगी। हम इंसान में प्रेम के वजह से ही हर खोज और हर आविष्कार संभव हो सका है। 

अगर राइट्स बंधु का प्रेम ना होता क्या हम प्लेन में उड़ पाते। यह जो साइंटिस्टोका क्रियेशन्स और इनोवेशंस पर प्रेम नहीं होता तो हम इलैक्ट्रिसिटी और पॉवर के बिना ही रह रहे होते। हम कार और मोटर साइकिल नहीं चला पाते। हम फोन और इलैक्ट्रिसिटी से चलने वाले प्रोडक्ट का हम इस्तमाल ही करना पाते। 

जिनके वजह से हमारी लाइफ ज्यादा सुविधा जनक और आरामदाई बनती है। इंजीनियरों को और बिल्डरों को हाउस बनने का प्रेम नहीं होता तो बिल्डिंग, हाउस और यह सिटी नहीं बन पाती। अगर प्रेम नहीं होता तो यह मेडिसिन और डॉक्टरों की सुविधा भी नहीं हो पाती। 

कोई टीचर और स्कूल भी नहीं होता, नाही बुक्स होती नाही कोई म्यूजिक क्युकी ये सब प्रेम के पोजिटिव पॉवर से बनाए गए हैं। आप सिर्फ अपने चारो और नजर डालिए आपको मानव निर्मित जो भी चीज नजर चीज दिखाई देगी ,वह प्रेम के बिना संभव नहीं था। 

इसीलिए प्रेम ही सबकुछ है, प्रेम ही सर्वस्व है। प्रेम तो जीवन की पोजिटिव पॉवर है। प्रेम ही पोजिटिव और अच्छी चिजो की बुनियादी वजह है। यही वो पॉवर है जो आप दुसरो को देते है और वही आपको वापस मिलता है। 

अगर आप पोजिटिविटी अपने लाइफ को देते है। तो आपको आपके लाइफ में पोजिटिव ही रिजल्ट आएंगे। अगर आप अपने लाइफ को नेगेटिविटी देते है तो आपको आपके लाइफ में नेगेटिव रिजल्ट ही आएंगे। हिन्दू धर्म ग्रंथ श्रीमत भगवतगीता में भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि जो जैसा कर्म करता है उसे वैसा ही फल मिलता है। 

दोस्तो यही बातो को आप इसी लॉ के साथ कंपैर करेंगे तो दोनो बातो का तात्पर्य एक ही है। अच्छा करो अच्छा मिलेगा ,आपके जिन्दगी में जो भी हर पल होता है वो बिना वजह के नहीं होता है। जो भी यह लाइफ को देते हो वैसा ही आप पाओ गे। आपके थॉट्स और फीलिंग जैसी भी हो अच्छे या बुरे ,आपको ऑटोमैटिकली वहीं मिलता है जो आप सोचते हो। और जो भी इमैजिन करते हो।

मैंने मेरे लाइफ में ऐसे बहुत से ऐसे लोग देखे है जो बड़ा बनाना चाहते हैं, कुछ अच्छा करना चाहते हैं। और वह लोग उसके ऑपोजिट जो उनको नहीं चाहिए उसपर उनको फोकस ज्यादा होता है। लोगों को वहीं चीज मिलती है जिसपर उनका ज्यादा फोकस होता है। 

अगर आपका फोकस नेगेटिव बतोपर और विचारों पर ज्यादा फोकस होगा तो आपको नेगेटिव मिलेगा। और आपका फोकस पोजिटिव विचारों और बातोपर होगा तो आपको पोजिटिव ही मिलेगा। इसीलिए हर पल अच्छा और पोजिटिव सोचिए आप जिस चीज से प्रेम करते है उसके बारे में सोचिए और उसके बारे में बोलिए उसके बारे में लोगों को बताइए।

आपकी सोचने कि शक्ति असीम है ,जो आप चाहते हो उसके बारे में दिल खोलकर इमैजिन करे दिल खोलकर फिल करे। Positivity attract more Positivity ऑथर यहां कहते है कि जब भी आप प्रेम की पॉवर का इस्तमाल करते तब आप इस यूनिवर्स के ग्रेटेस्ट पॉवर का इस्तमाल कर रहे होते। 

और यह वो पॉवर है पॉवर ऑफ लव, लॉ ऑफ लव , लॉ ऑफ अट्रैक्शन। 

The power of Feeling


यहां लेखक कहते है कि आपकी लाइफ के हर पल आप कैसा फील करते हैं वह सबसे इंपोर्टेंट है। दूसरी बाते बाद में क्युकी आपकी अभी की फीलिंग ही आपके जीवन का सर्जन कर रही है। आपकी फीलिंग ही आपके थॉट्स आपके शब्दों की शक्ति है। सभी अच्छी फीलिंग प्यार से ही आती है।

जहा प्यार की कमी होती है वहा नेगेटिव फीलिंग ही हमेशा आती है। हम जो भी अच्छा सोचते है उसको हमें और भी ज्यादा बढ़ाना होगा। और अच्छी फीलिंग बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है , आप चीज और जिस इंसान से प्रेम करते है उसके बारे में ज्यादा पोजिटिव सोचना शुरू करना होगा। 

और उसको सोच के उसके बारे में अमेजिंग फील करणा है। आज से ही और इसी वक्त से ही वो करना शुरू कर दे। फिर देखिए कैसा परिवर्तन आपके लाइफ आता है। हमारे लाइफ में कुछ भी नहीं होता है, हमारी लाइफ सिर्फ हमारे फीलिंग का रेस्पॉन्स दे रही है। अगर आप जितना ज्यादा अच्छा फील करोगे जितना आप उसे प्रेम करोगे वो भेाैतिक,सामाजिक, आर्थिक और आध्यात्मिक को अपने लाइफ में अट्रैक्ट करोगे। 

क्या वह सब जैसे की हेल्थ , हैप्पिनेस, वेल्थ पाना चाहते हो जिसे पाने की खोईश काफी समय से थी। आप सबकुछ पा सकते हो। आपके लाइफ में जो भी सिचवेशन है उसे बदलने केलिए अधिक संगर्श ना करे। आप सिर्फ जो चाहते हो उसे प्यार दे और आपकी अच्छी पोजिटिव फीलिंग दे। फिर आपके लाइफ में बदलाव होना शुरू हो जाएगा।

आपको सबसे पहले अच्छी फीलिग इस यूनिवर्स को देनी पड़ेगी और आपको हैप्पी रहना होगा और लोगों को हैप्पिनेस देगा होगा। आप अपने जीवन में जो भी पाना चाहते हो, आप वो पा सकते हो। लेकिन पहली शर्त यह है कि आपको सबसे पहले प्रेम देना होगा। 

Power of Feeling Frequency


दोस्तो इस चैप्टर में ऑथर के रही है कि इस यूनिवर्स कि हर एक चीज मैगनेटिक है। और हर एक चीज की मैगनेटिक फ्रीक्वेंसी है। आपकी फीलिंग्स और थॉट्स एक मैगनेटिक फ्रीक्वेंसी ही है। अगर आपकी फीलिंग अच्छी है तो आप पोजिटिव फ्रीक्वेंसी पर है। और अगर आपकी फीलिंग बुरी और नकारात्मक है तो आपकी फ्रीक्वेंसी नेगेटिव है। 

इसीलिए आपकी फीलिंग कैसी है उसपर आपकी फ्रीक्वेंसी तय होती है, और आप मैगनेटिक के तरह इसी फ्रीक्वेंसी पर मौजूद लोग घटना ओ और सिच्वेशन को अपने तरफ अट्रैक्ट करते हैं। अपनी फीलिंग और एहसास को बदल कर किसी भी समय अपनी मौजूदा फ्रीक्वेंसी को बदल सकते हो।

दोस्तो जेसे ही आपकी फ्रीक्वेंसी बदलेगी ,वैसे ही आपके आसपास के दिशा में बदलाव होना शुरू होगा। क्युकी आप अभी नई फ्रीक्वेंसी पर है, अगर आपके लाइफ में किसी भी पल कुछ नेगेटिव होता है तो आप उसे बदल सकते हैं। कुछ भी लेट भी हुआ है आप किसी भी पल आपके फ्रीक्वेंसी को बदल सकते हो। 

और दोस्तो फ्रीक्वेंसी को बदल ने का सबसे आसान रास्ता यह है कि आप अपने फीलिंग को बदल दे। चलिए जानते है की फीलिंग किस किस तरह की होती है....

What Types of Feeling ?


दोस्तो फीलिंग दो तरह की होती है । एक पोजिटिव और एक नेगेटिव 

Love  - प्रेम

Gratitude - कृतज्ञता

Passion - पैशन

Joy - आनंद

Enthusiasm - उत्साह

Contentment -  संतुष्टता

Self Confidence - आत्मविश्वास

Affection - स्नेह

Hope - आशा

यह सब पोजिटिव फीलिंग्स है और...

Anger - क्रोध

Anxiety - चिंता

Jealousy - जलन

Frustration - निराशा

Depression - तनाव

Criticism - टीका

Fear - भय

Confusion - उलझन

दोस्तो यह सब नेगेटिव फीलिंग्स है। कई सारे लोग अपने फीलिंग्स को ऑटोपायलट मोड पर रख देते हैं, यानी कि जब उनके साथ की कुछ अच्छा होता है तब वो लोग ऑटोमैटिकली अच्छा महसूस करते हैं। और जब उन लोगों के साथ कुछ बुरा होता है तब वो लोग बुरा महसूस करते है। 

जब आप कोई भी सिकवेशन में आप रिएक्ट करते ही तब आपके फ्रीक्वेंसी पर सीधा असर पड़ेगा यानी की अगर नेगेटिव सिचवेशंस आपके लाइफ में हो रही है और आप नेगेटिव ही महसूस करोगे। तो आपकी मौजूदा फ्रीक्वेंसी बदल जाएगी और आपकी फ्रीक्वेंसी नेगेटिव हो जाएगी। 

और इसके बाद आपके जिन्दगी में नेगेटिव ही होगा , इसके विपरित अगर आपके लाइफ में अच्छा होता है और आप अच्छा महसूस करते हैं तो आपकी मौजूदा फ्रीक्वेंसी पोजिटिव हो जाएगी। और आपके लाइफ में वैसा ही अच्छा होना शुरू हो जाता हैं। इसीलिए दोस्तो अपने फीलिंग्स को कभी ऑटोपायलट मोड पर कभी ना रखे। और अपने फीलिंग्स पर हमेशा ध्यान रखो।

आप अपनी लाइफ की परिस्थितियों को बदलना चाहते हो चाहे ओ धन के बारे में हो या हेल्थ के बारे में हो या चाहे आपके रिलेशनशिप के बारे में हो। आपको सबसे पहले उनके बारे में  जो फीलिंग्स है उनको बदलना होगा। 

मानलो अगर आपके पास पर्याप्त मात्रा में धन नहीं है तो सहज बात है कि आप धन के बारे में अच्छा फीलिंग्स नहीं करोगे। यानी कि आप धन के बारे में नेगेटिव फ्रीक्वेंसी पर है। और जब तक आप अपने फीलिंग्स को नहीं बदलोगे ,तब तक आपकी आर्थिक परिस्थिति नहीं बदलेगी। 

दुसरो को बलमिंग करना, क्रिटिसाइज करना , लोगों के कार्यों में गलतियां निकालना, लोगों के बारे में सिखायता करना यह सब नेगेटिविटी के ही लक्षण हैं। वो सब करने से आपको मिलेगा तो कुछ नहीं लेकिन आपका सबसे ज्यादा नुकसान करेगी इसीलिए यह सब करणा हमें छोड़ देना चाहिए।

और एक बात हमारे माइंड के डिक्शनरी में से हमें टैरीबल, हॉरिबल, दिस्गसस्टिंग आदि.... जेसे शब्दोको निकाल देना है और उसकी जगह fantastic, अमेजिंग, फेबुलोस, ब्रिलियंट, वंडरफुल जेसे शब्द एड करे। हमारा जीवन तराजू के जैसा है। 

एक तरफ नेगेटिविटी और दूसरी तरफ पॉजिटिवीटी जिसका पल्ला भारी होगा वैसेही सीचवेशन हमारी लाइफ में होगी। यानी कि आप ५०% भी पोजिटिव थॉट्स और फीलिंग देते है तो आपका यह तराजू Balance हो जाएगा। और  जरासी भी नेगेटिविटी बढ़ी तो आपका तराजू नेगेटिविटी की तरफ झुक जाएगा। 

दोस्तो दूसरी ओर जरासी भी पॉजिटिवीटी बढ़ी तो आपका तराजू पॉजिटिवीटी के तरफ झुक जाएगा। याद रखे 51% पॉजिटिवीटी पोजिटिव थॉट्स और फीलिंग देकर आपका जीवन पॉजिटिवीटी की तरह झुका सकते हो। और ऐसा करके आप अपने लाइफ में अच्छा ही अट्रैक्ट करोगे। 

हर दिन एक नई ओपर्चुनिटी हमारे लाइफ में आती हैं। हर दिन आपके लाइफ के फ्यूचर को बदलने की क्षमता रखते हो। आपको सिर्फ उसके लिए अपने फीलिंग्स और थॉट्स पोजिटिवली बदलना होगा। 

How to get anything


लाइफ में हमें जो चाहिए उस पाने सिर्फ एक ही रास्ता है और वह है प्रेम की शक्ति जागरुक करना। जो आप पाना चाहते हो उसके बारे में फील करे इमैजिन करे और उसे रिसीव करे। यह तीन स्टेप्स को करते है तो ,तो में मानता हूं कि आपकी लाइफ में अच्छा ही आनेवाला है। 

आपका विशुलेजेशन पॉवर आपकी मन चही चीजों को आपसे जोड़ती है। आपका बर्निंग डिजायर और प्रेम की फीलिंग आपके आसपास शक्तिशाली चुंबक की क्षेत्र का निर्माण करती है। और आपकी मन चाही चीज को आपकी तरफ अट्रैक्ट करती है। 

विजवलाइज करे कि आपकी मन चाही चीज आपके पास है , वो चीज और वो इंसान केलिए आप वो प्रेम फील करे। आप जब इस तरह विजव्लाइज करते है तब वह चीज आपके लिए ऑल रेडी आपके पास आने केलिए रेडी ही होती हैं। 

आपको सिर्फ पोजिटिव थॉट्स और प्रेम की फीलिंग को जगाना होता हैं। जब आप विजव्लाइज करते है तब आप एक पिक्चर की तरह विजव्लाइज करे। फिर आपको ऐसा फील करना है कि वो चीज आपके पास ऑल रेडी आ चुकी है और उसे महसूस करना है। 

उसके लिए आपके शरीर के पांचों शरीर के इन्द्रियों का इस्तमाल करना है और इस सब प्रक्रियो को आप पूरी करते है तब आप एक नए वर्ल्ड में पहुंच जाएंगे। जहा पर आपकी मन
मन चाही चीज मौजूद होगी जो आपको चाहिए। भले ही आपको वर्तमान में ना दिखे लेकिन आपको वह चीज जरुर मिलेगी। और जल्दी है आपको मिलेगी। 

The Power Book की यह बाते Rhonda Byrne ने इस बुक में बताई है। आप इन सभी बातो को समझ जाए तो तो आपका जीवन ही बदल जाएगा। में मानता हूं कि Rhonda Byrne की The Power Book को जरुर पढ़ना चाहिए। दोस्तो अगर अपने Rhonda Byrne की द सिक्रेट्स बुक ना पढ़ी हो तो कोई बात नहीं। 

क्युकी द सिक्रेट्स बुक की मैन पॉइंट्स को Rhonda Byrne ने The Power Book में लेली है। यानी कि द सिक्रेट्स बुक्स के थॉट्स को भी आप इस बुक को पढ़कर जान सकते है। दोस्तो अगर आपको The Power बुक को हिन्दी और अंग्रेजी में खरीदना है तो खरीद ने कि लिंक्स नीचे दी गई है। 

The Power Hindi Book : - Buy on amozon

The Power English Book : - Buy on amozon

the power (self-help book) pdf free download


दोस्तो अगर आपको the power बुक की पीडीएफ फाइल डाउनलोड करना चाहते है तो आप नीचे दी गई डाउनलोड लिंक पर क्लिक करके फ्री में the power बुक को डाउनलोड कर सकते हो

The power english book pdf : -  Click here to Download

the power book by rhonda byrne in hindi pdf


Download hindi ebook: - click here

जरूर पढ़े: - रिच डैड पुअर डैड हिन्दी बुक समरी

जरूर पढ़े: - थिंक एंड ग्रो रिच हिन्दी बुक समरी

Conclusion : - 

दोस्तो हमारे द्वारा किया हुआ प्रयास और The Power Book summary in Hindi ,आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। तो हमारे नॉलेज ग्रो टेलीग्राम चैनल को Subscribe करे और The Power Book summary in Hindi आर्टिकल को फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपने दोस्तो के साथ शेयर जरुर करिए। फिर मिलेंगे एक नए इंट्रेस्टिंग अर्टिकल के साथ। 

धन्यवाद!!!

2 टिप्पणियां

दोस्तों आपकी मूल्यवान टिप्पणियां हमें उत्साह और सबल प्रदान करती है, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !

टिप्पणी के सामान्य नियम : -

१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें...

२. किसी कि भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें...

३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें...

टिप्पणी पोस्ट करें
नया पेज पुराने