Your Brain On Porn Book Summary in Hindi By Gary Wilson

नमस्ते मेरे भाईयो और बहनों आप सभी का स्वागत है हमारे knowledge Grow हिन्दी ब्लॉग में, दोस्तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए बहुत ही Useful और Life Saving होने वाला है। क्युकी दोस्तो इस आर्टिकल में आपको Your Brain on P*rn book summary in Hindi में बताने वाला हूं।

दोस्तो आज हम रिसर्चर Gary Wilson द्वारा लिखी हुई किताब Your Brain on P*rnकि हेल्प से जानेंगे कि कैसे पोर्न हमारे दिमाग को और लाइफ को वक्त के साथ बेकार और डिप्रेसिव बनाती जा रही है। दोस्तो आप चाहे स्टूडेंट हो या आप एक जॉब worker हो या आप एक बिजनेस मैन हो, यह एक बुरी आदत आपको अपने गोल्स, बेहतरीन जिन्दगी और good health से दूर लेती जा रही है।

Your Brain On Porn Book Summary in Hindi By Gary Wilson

दोस्तो यह बुरी आदत कैसे युवाओं को बर्बाद कर रही है, जानने के लिए इस आर्टिकल को आखिर तक जरूर पढ़िए

Your Brain on P*rn Book Summary in Hindi | Life Changing Book

दोस्तो P*rnography आर्ट और communication के द्वारा human civilization में कई सालो से मौजूद रही है, लेकिन इंटरनेट ने इसे इजीली एक्सेसेबल बना दिया है। दोस्तो हम कुछ क्लिक्स दूर होते है हजारों P*RN वेबसाइट्स से, दोस्तो P*RN का एडिक्शन एक रीयल फिनॉमेनन है जो हमारे सोच और डिजायर्स को impact करता है।

दोस्तो ये फिनॉमेनन बहुत ही तेजी से हर साल इंक्रीज होता जा रहा है, क्युकी एक स्टडी में इसका एडिक्शन कई स्त्री और पुरुष में प्युबटी के द्वरान सबसे ज्यादा पाया गया है। लेकिन दोस्तों यह एक एडिक्शन आपके किसी भी age में आपके पार्टनर के साथ रिलेशन में या शोशल लाइफ में या कैरियर में बहुत बड़े लेवल पे इमैक्ट कर रहा होता है।

दोस्तों कई बार हमे यह पता भी नहीं होता है या पता होता है तो भी हम चाहकर भी कुछ नहीं कर पाते हैं, अपनी इस एक बुरी आदत के स्लेव होने के वजह से, दोस्तों सेक्स ड्राईव्ह एक बहुत ही पॉवर फुल motivational फोर्स हैं। जो कि जरूरी है human race को इव्होल करने के लिए, लेकिन P*RN इस human connection को समय के साथ बिल्कुल अनप्रोडक्टिव बनाती जा रही है।

जिसके वजह से रीयल वर्ल्ड में नए पार्टनर्स के साथ फिजिकल रिलेशन बनाने के बजाय स्क्रीन के सामने अपनी सेक्सुअल ड्राइव खर्च करना ज्यादा पसंद करते हैं और वो लोग ऐसा करना ज्यादा आसान मानते हैं। दोस्तो ज्यादा पोर्न विडियोज देखने या heavy हस्तमैथून करने वाले लोगों को बाद में स्वप्नदोष, नपुंसकता, शीघ्रपतन जैसे बड़े भयानक रोगों का सामना करना पड़ता है।

दोस्तो जब इन लोगों कि जब शादी हो जाती है तब ऐसे लोगों को पार्टनर के साथ शारीरिक संबंध बनाते समय कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। स्त्री और पुरूष दोनों ही अपने पार्टनर कि performance और बॉडी टाइप से satisfy नहीं हो पाते हैं, या कुछ वक्त के बाद अपने पार्टनर से इंटरेस्ट खो देते हैं। 

दोस्तो इवन P*RN यूजर्स ने खुद बताया है कि वो अपने पार्टनर को पोर्नस्टार के साथ कंपैर करते हैं। और अगर उन्हें वो नहीं मिल पाता है जैसा उन्हें चाहिए तो उन्हे ऑर्गेज्म और ईरेक्षन में प्रोब्लेम आती है और वो सेक्सुअली satisfy नहीं हो पाते हैं। 

दोस्तो इस बुक के ऑथर कहते हैं कि पोर्न के इंपैक्ट हमारे इमोशनल वैल्बिंग के लिए खतरा है, और इसे हमे वक्त रहते समझना और एक्सेप्ट करना ही होंगा। क्युकी कैनेडियन रिसर्चर साइमन लैजीनस ने P*RN देखने वाले 20 स्टूडेंट्स से पूछा कि क्या तुम्हे लगता है कि P*RN तुम्हारे मेंटल अटिट्यूड और कंडिशनिंग को एफेक्ट करती है?

तो स्टूडेंट्स ने जवाब दिया कि नहीं ,हमे तो ऐसा नहीं लगता। दोस्तो स्टूडेंट्स तो कई सालो से P*RN देखते आ रहे थे। तो कैनेडियन रिसर्चर साइमन लैजीनस के लिए ये पूछना ऐसा था जैसा मछली को पानी के बारे में पूछना। क्युकी जामा साइकेट्रि के research में यह सामने आया है कि P*RN का कंज़मशन हम में ग्रे मैटर और सेक्सुअल रिस्पोंसिवनेस कि कमी लाता है। 

दोस्तो ग्रे मैटर हमारे न्यूरोनल सेल्स से बना हुआ होता है, और यह हमारे 25 साल में fully develop हो जाता है। इसके कमी से हमारे देखने और सुनने, मेमरी, इमोशंस और डिसीजन मेकिंग और सेल्फ कंट्रोल जैसे पॉवर्स में कमी होती है। दोस्तो Oxford University के एक रिसर्च में एक सामने आया की P*RN से addicted लोग दुसरो के साथ साथ अपने आपको भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

क्युकी एक पर्सन ने बताया कि में एक एथलेटिक, स्मार्ट पर्सन था। मै पिसफुली अपनी लाइफ को एंजॉय कर रहा था, मेरे काफी दोस्त भी हुआ करते थे। लेकिन जब मैंने 11 साल कि उम्र में P*RN देखना शुरू कर दिया तब उससे में डिप्रेशन में चला गया और मेरे अगले 15 साल बहुत बुरे गए। मुझे लोगों के साथ ज्यादा बात करना या रहना अब पसंद नहीं था।

मै सबको hate करने लगा और मैंने स्पोर्ट्स खेलना भी बंद कर दिया और में स्कूल के टेस्ट में मुश्किल से पास हो पाता था। मैंने अपने दिमाग में अपनी ही एक इमेजनरी दुनिया बना ली थी सिर्फ P*RN के वजह से, 

दोस्तो P*RN देखने वाले लोग ब्रेन को ओवर स्टिमुलेट और डोपामाइन का ज्यादा रिलीज करने के वजह से ऑर्गेज्म में प्रोब्लेम, मेंटल इलनेस, स्ट्रेस, डिप्रेशन, एंजाइटी, लैस सेक्सुअल और रिलेशनशिप सेटिस्फे्शन, Poor Quality of Life, लो सेल्फ कॉन्फिडेंस , ब्रेन फोग यानी कि फोकस न कर पाना जैसे प्रोब्लेम्स को रोजमर्रा कि जिंदगी में फेस कर रहे हैं। 

दोस्तो ऐसे लोग बाद में इन सभी प्रोब्लेम्स को overcome करने के लिए बहुत सारी medicine का इस्तमाल करते हैं और जब दवाइयों से कुछ नहीं होता तो यह लोग कहते हैं कि हमारी लाइफ तो बर्बाद है गई!!!

लेकिन दोस्तो सवाल यह आता है कि लोग पोर्न क्यों देखते हैं और देखते हैं तो इसके एडिक्ट क्यों हो जाते हैं ?

दोस्तो इसका जवाब है....

लोग P*RN को अपने बोर डाउन, अकेलापन (लोनलीनेस), स्ट्रेस, डिप्रेशन इन सभी का सॉल्यूशन समझते हैं, जहा वो P*RN देखते समय इन सभी चीजों और लाइफ प्रोब्लेम्स को भूल जाते हैं। और दोस्तो इकसाइटमेंट में ब्रेन में ज्यादा से ज्यादा डोपामाइन रिलीज करके प्लाजिरेबल शेंसेसंस एक्सपीरियंस करते हैं।

दोस्तो यह एक एबनॉर्मल प्रक्रिया है।

उसके बाद ब्रेन सर्किट्स को इसकी आदत पड़ जाती है और न्यूरोप्लास्टिसिटी चेंचेस होना शुरू हो जाते हैं। जिससे लोग अपनी इंद्रियों को और ज्यादा प्लेजर देने के लिए वक्त के साथ न्यू और अलग categories कि P*RN विडियोज देखते हैं। ज्यादा तर केसेस में दिमाग को वहीं पुरानी और सॉफ्ट P*RN विडियोज से स्टिमुलेषण नहीं मिलता है, तो लोग पहले से अलग और एक्सट्रीम P*RN कि और बढ़ते हैं, अपनी एडजेस्ट को पूरा करने के लिए...

दोस्तो हमने यह तो जान लिया कि P*RN हमारे लाइफ और ब्रेन को कैसे एफेक्ट करती है। लेकिन अब हम आपको इस कि हेल्प से बताएंगे की पोर्न छोड़ने के क्या क्या फायदे हैं और लोगों ने क्या एक्सपीरियंस किया है?

Benifits of Not Whatching P*RN in Hindi

दोस्तो इस बुक के ऑथर को एक पर्सन ने बताया कि ज्यादा P*RN देखने के वजह से उसको erections में प्रोब्लेम्स होने लगी और ये condition दिन प्रतिदिन बतर होती जा रही थी, जिसके वजह वो डिप्रेशन में आ गया था। लेकिन एक दिन उसको अंदर से एक स्ट्रॉन्ग अर्ज आयी और उसने P*RN और हस्तमैथुन नही करने का ठान लिया। 

दोस्तो यह डिसीजन और प्रोसेस उसके लिए आसान नहीं रहा, लेकिन अगले कुछ महीनों में वो अपने इस आदत पे कंट्रोल और victory पा चुका था और वह पर्सन completely हिल हो गया। दोस्तो इस बुक के ऑथर कहते हैं कि जो लोग P*RN नहीं देखते हैं या ना के बराबर देखते हैं उन लोगों का डिजायर दुसरो से कनेक्ट होने का ज्यादा बढ़ जाता है और उनका सेल्फ एस्टीम भी एक लेवल पे अच्छा ही जाता है। 

दोस्तो ऐसे लोग सेंस ऑफ ह्यूमर या इमोशनल मैच्योरटी में काफी अच्छे होते हैं। ये लोग लाइफ में डिप्रेसिव और लैस कॉन्फिडेंट होने के जगह ज्यादा पोजिटिव और ऑप्टिमेंस्टिक होते हैं। सोशल एंजाइटी ना होना, लोगों के साथ बात करते समय 👁️ i contact कर पाना और एनर्जेटिक फिल करना, चीजों पर कंसंट्रेशन कर पाना, माइंड शार्प होना, वुमन से फूली इंटरैक्ट कर पाना ऐसे लोगों के लिए ज्यादा मुश्किल नहीं होता।

साथ ही ऑथर कहते है कि पोर्न छोडना इंपॉसिबल नहीं है, और इसे छोड़ने के लिए वर्ल्ड वाइड नोफेब और Celibacy (ब्रह्मचर्य) जैसी अच्छी आदतें अपनाकर लोग इस आदत को छोड़ने कि प्रैक्टिस कर रहे हैं। दोस्तो इस बुक के ऑथर ने इस आदत को छोड़ने किए कुछ टिप्स और टेक्नीक्स शेयर किए है जिसके मदत से आपको पोर्न छोड़ने के इस जर्नी में हेल्प मिलेगी।

१) फर्स्ट स्टेप में ऑथर कहते है कि आपको अपने ब्रेन को रिसेट करना है, कमसे कम एक महीना इस एक महीने में आपको सभी सेक्सुअल चीजों से दूर रहना है, जैसे कि P*RN, हस्थमैथुन, सेक्सुअल बिहेवियर एंड टॉक...

आपको इन सभी चीजों से दूर रहना है। दोस्तो आपको कंसिस्टेंट रहना है, आपको इसमें कुछ महीने लग सकते हैं। इससे आपका माइंड shout down होकर फिरसे Re-start होगा। 

२) दोस्तों इसके बाद अगला स्टेप है Remove All P*RN, यानी कि आपको अपने मोबाइल और लैपटॉप से सभी पोर्न वेबसाइट के कलेक्शन और सभी पोर्न विडियोज को Delete करना है। क्युकी ऐसा करना आपके ब्रेन को सिग्नल देगा की अब आप अपनी लाइफ को चेंज करने के लिए सीरियस हो। 

३) दोस्तो इसके बाद अगला कदम है मूव युवर फर्नीचर्स अराउंड, यानी कि अगर आप P*RN अपने रूम या अपने प्राइवेट एरिया में देखते हो तो आपको अपना कंप्यूटर टेबल को ऐसी जगह पर रख दो जहा पर आपके घर के सब लोग रहते है और जहा आप P*RN नहीं देख सकते हो। 

अगर आप अपने फोन में देखते हो तो आप अपने सोने और बैठने कि जगह ऐसी चुन सकते हो जहा आप P*RN नहीं देख सकते हों। 

४) एक्सरसाइज़

दोस्तो फिजिकल एक्सरसाइज सबसे बेस्ट तरीका है इस आदत से छुटकारा पाने का, इससे आप अपना सेल्फ कॉन्फिडेंस और फिटनेस दोनों को इम्प्रूव कर सकते हों। दोस्तो अगर आप under 40 है तो यह आपके erections में भी हेल्प करेगा।

५) get outside

दोस्तो Nature आपके ब्रेन के लिए अच्छा है, यह बूस्ट करता है हमारे क्रिएटिविटी और प्रोब्लेम्स सॉल्विंग पॉवर को, दोस्तो अगर आप ज्यादा घर में रहोगे तो आप दुबारा वहीं सर्कल में जाने के चांसेज बढ़ जायेंगे। इसीलिए रोज कुछ देर के लिए वॉक पर जरूर जाईए, इससे आपका माइंड फ्रेश और पोजिटिव रहेगा।

६) Socializing

दोस्तो डिजिटल Socializing करने के बजाय आप रीयल में Socializing करे, यानी कि फेसबुक, व्हाट्सएप पर ज्यादा friendship बनाने के बजाय रीयल में लोगों के साथ रिलेशन बनाने कि कोशिश करिये, आप खुद के और लोगों के बारे में और जानो। दूसरे human को सिर्फ सेक्स के इंटेंशन से देखने के बजाय अच्छी रिलेशनशिप build करें।

७) Meditation (ध्यान)

दोस्तो मेडिटेशन करना सबसे बेस्ट तरीका है अपने माइंड पर और अपने thoughts पर कंट्रोल पाने का और यह एक चीज आपको इस जर्नी मै बहुत हेल्प करेगी। 

८) Reading

दोस्तो इसके बाद अगला कदम है reading, दोस्तो अगर आप daily सिर्फ 15 minute के लिए कुछ सेल्फ हेल्प बुक्स और मोटिवेशनल बुक्स पढ़ोगे तो यह आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होगा। दोस्तो अगर आपको समझ में नहीं आ रहा है कि किस किताब से पढ़ना शुरू करे तो में आपके लिए कुछ किताबे सजेस्ट करूंगा जो आपकी जिंदगी बदल देंगी।

1. Your Brain on P*rn - Main Book

2. You can heal your life

3. Master your thoughts master your life 

4.The Miracle morning Book

5. Divya Prerna Prakash

दोस्तो ये थे वो ५ किताबे जो आपकी जिंदगी बदल देंगी, दोस्तो इन सभी किताबों कि हिन्दी समरी इस साइट पर मौजूद है। दोस्तो आज कि यह बुक समरी आपको कैसी लगी हमे नीचे कॉमेंट करेंगे जरूर बताए...

Releted Articles : -

ज़रूर पढ़िए : - Photographic Memory क्या है पुरी जानकारी हिंदी में

ज़रूर पढ़िए : - 7 हैबिट्स ऑफ हाईली इफेक्टिव पीपल कंप्लीट हिन्दी बुक समरी

जरूर पढ़िए : - बेबीलॉन का सबसे अमीर आदमी किताब कि कंप्लीट हिन्दी समरी

जरूर पढ़िए : -the alchemist Book summary in Hindi

जरूर पढ़िए: - prefrontal Cortex क्या है पुरी जानकारी हिंदी में...

Conclusion : 

दोस्तो हमारे द्वारा किया हुआ प्रयास और Your Brain on P*rn Book Summary in Hindi आर्टिकल अगर आपको पसंद आया हो और आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा तो अपने दोस्तो के साथ इस आर्टिकल को फेसबुक और व्हाट्सएप पर जरूर शेअर करिए

Subscribe Our Telegram Channel

दोस्तो हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमारे नॉलेज ग्रो हिन्दी ब्लॉग को ईमेल आईडी से subscribe जरूर करिए और हमारे नॉलेज ग्रो फेसबुक पेज को लाइक और telegram channel को subscribe जरूर कीजिए। दोस्तो फिर मिलेंगे ऐसे ही एक इंटरेस्टिंग और शानदार आर्टिकल के साथ तब तक केलिए जहा भी रहिए खुश रहिए....

All The Very Best...

दोस्तों आपकी मूल्यवान टिप्पणियां हमें उत्साह और सबल प्रदान करती है, आपके विचारों और मार्गदर्शन का सदैव स्वागत है !

टिप्पणी के सामान्य नियम : -

१. अपनी टिप्पणी में सभ्य भाषा का प्रयोग करें...

२. किसी कि भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी न करें...

३. अपनी वास्तविक राय प्रकट करें...

टिप्पणी पोस्ट करें (0)
नया पेज पुराने