Benjamin Franklin Biography in Hindi | बेंजामिन फ्रैंकलिन की जीवनी

Benjamin Franklin Biography in Hindi: नमस्कार दोस्तों आप सभी का हमारे नॉलेज ग्रो हिन्दी ब्लॉग में स्वागत है। दोस्तो आज की यह ब्लॉग पोस्ट आप सभी केलिए बहुत ही प्रेरणादायक और स्पैशल होने वाली है। क्योंकि दोस्तो आज में आपके साथ बेंजामिन फ्रैंकलिन की जीवनी और साथ ही 35+ बेंजामिन फ्रैंकलिन के विचार आपके साथ शेयर करने वाला हूं। इसीलिए दोस्तो इस इंट्रेस्टिंग आर्टिकल को आखिर तक जरूर पढ़िए।

दोस्तों जिंदगी में कई बार ऐसा होता है जब बहुत कोशिशों के बाद भी हमे सफलता नहीं मिलती है, और ऐसे में अपसेट होने के बजाय आप यह सोच सकते है की “मैं इम्तिहाम में असफल नहीं हुआ, मुझे तो बस १०० गलत तरीको का पता चला है” और यह मैने नही कहा है बल्की बेंजामिन फ्रैंकलिन जी ने कहा है।

Benjamin Franklin Biography in Hindi

दोस्तो भारतीय रूपयो की नोट पर गांधी जी की फोटो होती हैं और अमेरिका की US dollar पर बेंजामिन फ्रैंकलिन जी की फोटो होती हैं। जिनकी पूरी लाइफ ही हमारे लिए एक ऐसा एग्जांपल सेट करती है, जिससे की हमारे लिए यह समझना बहुत ही आसान हो जाता हैं की एक एकेला इंसान कितना वर्सेटाइल और इंस्पायरिंग हो सकता है। तो दोस्तो चलिए शुरू करते हैं बेंजामिन फ्रैंकलिन की जीवनी को…

बेंजामिन फ्रैंकलिन की आत्मकथा | Benjamin Franklin Biography in Hindi

दोस्तों बेंजामिन फ्रैंकलिन जी अमेरिका के राष्ट्र निर्माताओ में से एक थे और अमेरिका के एक ग्रेट वैज्ञानिक और इन्वेंटर होने के अलावा एक ग्रेट राइटर और पॉलिटेशन भी थे। और अगर आप आज रॉकिंग चेयर पर बैठकर इनकी जीवनी को पढ़ रहे हैं, तो आपको यह जानकर खुशी होंगी की रॉकिंग चेयर के इन्वेंटर भी बेंजामिन फ्रैंकलिन जी ही थे। और ऐसी ढेर सारी महान चीजों की खोज करने वाले बेंजामिन फ्रैंकलिन जी की लाइफ में बचपन से ही अप्स एंड डाउन्स रहे हैं।

बेंजामिन फ्रैंकलिन का बचपन

बेंजामिन फ्रैंकलिन जी का जन्म १७ जनवरी १७०६ को अमेरिका के बोस्टन नाम के एक छोटे से शहर में हुआ था। उनके पिता का नाम जोशिया फ्रैंकलिन था और वो मोमबत्ती बनाने का काम करते थे। बेंजामिन जी अपने पिता के 17 संतानों में से 15 वी संतान थे क्योंकि उनके पिता ने 2 शादियां की थी।

Benjamin Franklin Education

बेंजामिन के पिताजी चाहते तो थे की उनका बेटा Benjamin Franklin बड़ा होकर स्कूल जाए लेकिन उनके पास इतना पैसा नही था, की वो बेंजामिन को 2 साल से ज्यादा पढ़ा सके। इसीलिए ऐसी हालातो में बेंजामिन का स्कूल जाना 10 साल की उम्र में ही बंद हो गया था और वो घर पर ही पढ़ने लगे। स्कूल छूट जाने के बाद कुछ समय तक अपने पिता के काम में हाथ बटाया और फिर उसके बाद अपने भाई जेम्स के साथ प्रिटिंग के काम में जुट गए।

बेंजामिन फ्रैंकलिन का कैरियर

दोस्तो बेंजामिन जी जब 17 साल के हुए तब वे एक नए शहर Philadelphia में पहुंच गए। जहा पर शुरावती दिनों में कई दुकानों पर उन्होंने प्रिटिंग का काम किया और 21 साल के उम्र में करंट इश्यू पर चर्चा करने वाले एक ग्रुप जुंटो का निर्माण किया। इस ग्रुप की खासियत यह थी की इसके मेंबर्स को किताबे पढ़ने का बहुत शौक था। लेकिन उनके सामने मुश्किल यह थी की उस समय में किताबे आसानी से नहीं मिलती थी और काफी महंगी भी हुआ करती थीं।

इसी मुश्किल को हल करने केलिए बेंजामिन फ्रैंकलिन जी ने अपने साथियों के साथ एक लायब्रेरी बनाई और छोटी छोटी कोशिशों से बनी इस लायब्रेरी में आज 5 लाख किताबे और 1 लाख 60 हजार से भी ज्यादा पांडूलिपिया और 75 हजार से भी ज्यादा ग्राफिक आइटम मौजूद हैं। दोस्तो बेंजामिन फ्रैंकलिन की यह उपलब्धी उनके इस बात का उदाहरण है की चीटी से अच्छा उपदेशक और कोई नहीं है, वो काम करते वक्त हमेशा खामोश रहती है।

वैसे अपनी स्कूल की पढ़ाई भी पूरी नहीं कर पाने वाले बेंजामिन फ्रैंकलिन जी ने कभी भी हार नहीं मानी और अपने self improvement केलिए इंग्लिश भाषा के अलावा लैटिन, इटालियन, फ्रेंच, स्पैनिश जैसे विदेशी भाषाओं में भी खुद को पारंगत किया।

बेंजामिन फ्रैंकलिन की खोज और बेंजामिन फ्रैंकलिन ने क्या आविष्कार किया था?

बेंजामिन फ्रैंकलिन जी के अंदर के छुपे हुए वैज्ञानिक को जब यह पता चला कि बिजली गिरने की वजह से बहुत सी इमारते गिर रही है और इस वजह से काफी नुकसान हो रहा है? तो उन्होंने लाईटिंग कंडकटर का अविष्कार कर दिया। जो की ऊंची इमारतों को बादल के गरज से बचाने का एक साधन था।

इलेक्ट्रिसिटी के फील्ड में बेंजामिन फ्रैंकलिन जी को काफी इंटरेस्ट था और उसी इंटरेस्ट के चलते हुए अपने experment के द्वरान 2 बार इलेक्ट्रिक शॉक लगने से उनकी जान जाते जाते बची थी। बेंजामिन फ्रैंकलिन ही वो पहले वैज्ञानिक थे जिन्होंने अंध महासागर के गल्फस्ट्रीम की गति, तापमान और गहराई को मापने में अपना बहुत सारा समय लगाया था।

उन्होंने नौसेना की अधिकारी और वेज्ञानिको को यह भी बताया की इतनी उथल पुथल करने वाले महासागर को भी मलाह लोक तेल डालकर शांत कर सकते हैं। बेंजामिन फ्रैंकलिन जी ने ऐसा स्टोफ भी बनाया जो कमरो को गरम करने में काफी फायदे मंद रहा। वैसे तो आपने यह जरूर सुना होगा की आवश्यकता आविष्कार की जननी होती है, और इसका एक उदाहरण बेंजामिन जी के जीवन में भी देखा जा सकता है।

दोस्तो बेंजामिन जी को दूर की और पास की चीजों को देखने केलिए 2 चश्मों का इस्तमाल करना पड़ता था, और जब बार बार दो चश्मों को इस्तमाल करने से वो तंग आ गए, तब उन्होंने बाय फोकल आई लेंसेस बना डाले। जिनसे दूर और पास की चिजो को एक ही चश्मे से देख पाना आसान हो गया। दोस्तो इसी तरह महान इंवेंटर रहने वाले बेंजामिन फ्रैंकलिन जी ने अपनी खोजो का कभी भी पेटेंट नही करवाया।

क्योंकि उनका मानना था की दुसरो के अविष्कारो का फायदा अगर हम उठा सकते है, तो अपनी खोजो से दुसरो की हेल्प करने में हमे भी खुशी होनी चाहिए। दोस्तो इस महान वैज्ञानिक का योगदान अमेरिका के स्वतंत्र संग्राम में इतना महत्वपूर्ण रहा की अमेरिका में जॉर्ज वॉशिंगटन जी के बाद दूसरा नाम इन्हीं का लिया गया और अमेरिका के संविधान निर्माण में भी इन्होंने अपना महान योगदान दिया है।

दोस्तो अमेरिका का सबसे पहला पॉलिटेकनिक कार्टून बनाने का श्रेय भी इन्ही को ही जाता हैं। राज नीति और अविष्कारो में महारत हासिल करने वाले बेंजामिन फ्रैंकलिन जी को संगीत में भी काफी रुचि थी। उन्हें वायलिन, विना और गिटार बजाने का काफी शॉक था और वो शतरंज के भी एक बेहतरीन खिलाड़ी थे।

दोस्तो बेंजामिन फ्रैंकलिन जी का कहना था की अपनी प्रतिभाओं को छुपाओ मत वो उपयोग में लाने केलिए हैं।

बेंजामिन फ्रैंकलिन की मृत्यु कब हुई?(Benjamin Franklin Death)

दोस्तों धूप घड़ी में छाव का क्या काम बिलकुल ऐसे ही हर मुश्किल हालात में धैर्य रखने की सलाह देने वाले और वक्त का महत्व समझाने वाले महान दार्शनिक वैज्ञानिक Benjamin Franklin की डेथ ८४ साल कि उम्र में अप्रैल 1790 को हो गई। और दुनिया को दिया हुआ उनका contribution उस समय साफ दिखाई दिया जब उनके अंतिम संस्कार में 20000 से भी ज्यादा लोग शामिल हुए थे।

तो दोस्तो यह थी बेंजामिन फ्रेंक्लिन बायोग्राफी इन हिंदी आपको कैसी लगी हमे नीचे कॉमेंट करके ज़रूर बताएं।

बेंजामिन फ्रैंकलिन के विचार (Benjamin Franklin Quotes in Hindi)

वह जो इंसान शांति और चैन से जीना चाहता है उसे हर वो चीज नही बोलनी चाहिए, जो वो जानता है या देखता है।

संतुष्टि गरीब पुरुषो को अमीर बनाती है और असंतोष अमीर लोंगों को गरीब बनाता है।

निरंतर विकास और प्रगति के बिना सुधार, उपलब्धी और सफलता जैसे शब्दों का कोई महत्व नहीं है।

जब कुआ सुख जाता हैं, तब उसके पानी की कीमत का पता चलता है।

२० साल की age में इंसान अपनी इच्छा से चलता है, ३० साल की age में बुद्धि से और ४० की age में अपने अनुमान से चलता है।

दोस्तो ऐसे ही 30+ इंस्पिरेशनल & मोटिवेशनल बेंजामिन फ्रैंकलिन के विचारों को पढ़ने केलिए नीचे दिए गए आर्टिकल को ज़रूर पढ़िए।

» 40 बेंजामिन फ्रैंकलिन के विचार इन हिंदी
» 45+ पॉजिटिव (सकारात्मक) थॉट्स इन हिंदी
» मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर सक्सेस

हमारे अन्य आर्टिकल्स

  1. Captain Vikram Batra Biography in Hindi
  2. Indian Ethical Hacker Manan Shah Biography in Hindi
  3. Dr. Vivek Bindra Biography in Hindi
  4. Harshvardhan Jain Biography in Hindi
  5. Tesla Company Founder Elon Musk Biography in Hindi
  6. Bill Gates Biography in Hindi
  7. Sachin Tendulkar Wife Anjali Tendulkar Biography in Hindi
  8. Dr. APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

Conclusion of Benjamin Franklin Biography in Hindi

दोस्तों आज आपने Benjamin Franklin Biography in Hindi आर्टिकल के जरिए सीखा की बेंजामिन फ्रैंकलिन जी कौन थे? और उनका बचपन कैसा था? उन्होंने अपने जीवन में कौन कौन सी खोजे और आविष्कार किए थे? उनके विचार कैसे थे यह सब आपने बेंजामिन फ्रैंकलिन की जीवनी आर्टिकल से सीखा।

Benjamin Franklin Ki Atmakatha in Hindi Pdf Free Download

दोस्तो अगर आप benjamin franklin biography in hindi pdf free download करना चाहते हैं, तो नीचे benjamin franklin ki atmakatha in hindi pdf free download करने की लिंक दी हुई है।

benjamin franklin ki atmakatha in hindi pdf : Free Download

Hindi Book : Amozon से खरीदे

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा हुआ आर्टिकल यह आर्टिकल अगर आपको पसंद आया होगा और आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होंगा तो अपने दोस्तों के साथ इसे जरूर शेयर कीजिए ताकि उनको भी बेंजामिन फ्रैंकलिन की जीवनी और उनके विचार पढ़ने को मिले।

दोस्तो क्या आप इस ब्लॉग पर पहली बार आए हुए हैं, तो मैं आप लोगों को बताना चाहूंगा की मैं हर दिन आप सभी केलिए सफल और कामयाब लोगों की जीवनी, उनके विचार और उनके द्वारा लिखी गई इंस्पिरेशनल, सेल्फ हेल्प किताबों की हिंदी समरी आप सभी के लिए इस ब्लॉग पर हर दिन पब्लिश करता रहता हूं। इसीलिए आप हमारे नॉलेज ग्रो हिन्दी ब्लॉग और टेलीग्राम चैनल को Subscribe जरूर किजिए।

दोस्तो नॉलेज ग्रो ब्लॉग को Subscribe करने केलिए आपको नीचे बाए साइड में दिए हुए घंटी🔔के आइकॉन पर क्लीक करे और हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें। जिससे हमारे ब्लॉग पर नए आर्टिकल पब्लिश होते ही सबसे पहले आपको notification मिलती रहें।

दोस्तो फिर मिलेंगे एसे हि एक इंट्रेस्टिंग आर्टिकल के साथ तब तक केलिए आप जहा भी रहिए खुश रहिए।

आपका बहुमुल्य समय देने केलिए धन्यवाद!

Leave a Comment