Megaliving Book Summary in Hindi | जिओ शान से बुक समरी इन हिंदी

Megaliving Book Summary in Hindi | Megaliving Book in Hindi

नमस्कार साथियों आप सभी का नॉलेज ग्रो ब्लॉग पर स्वागत है। दोस्तो आज की यह बुक समरी आपके लिए बहुत ही इंस्पिरेशनल और फायदेमंद साबित होने वाली है। अगर आप अपने जिंदगी में कहीं अधिक जीवन शक्ति, समृद्धि और आंनद पाना चाहते हैं? तो आप Megaliving Book Summary in Hindi आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़िए।

Megaliving Book Summary in Hindi
Megaliving Book Summary in Hindi | जिओ शान से बुक समरी इन हिंदी

दोस्तो आप अपने जीवन में कहीं अधिक जीवन शक्ति, समृद्धि और आनंद के पात्र हैं, और आप इसे जल्द से जल्द हासिल कर सकते हैं। इस किताब के लेखक रॉबिन शर्मा जी ने 10 से अधिक सालो तक उन लोगों की रणनीतियों का अध्ययन किया, जिन्होंने स्थायी व्यक्तिगत, पेशेवर और आध्यात्मिक सफलता हासिल की हुई है।

पश्चिम में प्रमुख सीईओ, कुलीन एथलीटों और बेतहाशा सफल उद्यमियों से लेकर पूर्व के हिमालयी पहाड़ों में उच्च स्तर पर रहने वाले विद्वान दार्शनिकों और बुद्धिमान संतों तक, उन्होंने चोटी के कलाकारों की तलाश की, जिन्होंने समृद्धि, जुनून और शांति से भरा जीवन बनाया था। और यह असाधारण पुस्तक उनके रहस्यों को उजागर करती है।

तो दोस्तो इस बुक समरी को शुरू करने से पहले में आप सभी से कहना चाहूंगा की में इस ब्लॉग पर मोटिवेशनल, सेल्फ हेल्प और फाइनेंशियल किताबो की समरी और उसके साथ ही मोटिवेशनल स्टोरीज, और बायोग्राफीज हिन्दी में आप सभी के लिए लेकर आता रहता हूं।

इसलिए हमारे ब्लॉग के साथ जुड़ कर खुद को पहले से बेहतर बनाने के लिए हमारे ब्लॉग को ईमेल subscription से सब्क्राइब जरूर किजिए। ताकि भविष्य में आपको हमारे ब्लॉग पर नए आर्टिकल पब्लिश होते ही उसकी सूचना सबसे पहले आपको मिल सकें।

Megaliving Book Summary in Hindi | जिओ शान से बुक समरी इन हिंदी

दोस्तो एक बार एक आदमी हिमालय पर्वत पर जाता हैं, और चढ़ाई शुरू करने लगता हैं। क्योंकि हिमालय पर्वत की चोटी पर जाना उसका सपना था। जब वह आदमी चढ़ाई शुरू करता है, तब वो कुछ ही दूर चला जाता हैं और उसकी हिम्मत टूटने लग जाती है। क्योंकि इतना चलने के बाद भी हिमालय उसकी पहुंच से काफी दूर था। पर वो फिर उठता है और फिर से चलने की कोशिश करता है, लेकिन फिर भी आगे नहीं बढ़ पाता है।

काफी कोशिश करने के बाद जब उसकी विल पावर जवाब देने लगती है की तू ये नही कर पायेगा, तो वह काफी निराश हो जाता हैं और वापस लौटने की सोचता है। जब वो व्यक्ति वापस लौटने लगता हैं, तब रास्ते में उसकी नजर एक बूढ़े आदमी की ओर पड़ती है, जो देखने में उसको काफी इंटेलिजेंट लग रहा था।

उसके बाद वह व्यक्ति अपना दुखी मन लेकर उस बूढ़े आदमी के पास चला जाता हैं और उनसे पूछता है की बाबा में इस हिमालया कि चोटी पर पहुंचना चाहता हूं और ये मेरा सपना है। पर मैने हिमालय पर्वत पर चढ़ने की कितनी भी कोशिश करली, पर में नही चढ़ पाया। अगर आप इसमें मेरी कोई मदद कर सकते हैं, तो प्लीज मेरी मदद जरूर कीजिए। और मुझे बताए की मे हिमालया की चोटी पर कैसे पहुंच सकता हूं ?

उस हारे हुए व्यक्ति की बात सुनने के बाद वो बूढ़ा आदमी कहता है की “देखो जिस सोच के साथ तुम वहा पर जा रहे हो, उस सोच के साथ तुम हिमालया की चोटी पर तो क्या तुम हिमालया के आधे रास्ते पर भी नही पहुंच पाओगे।” “क्योंकि तुम्हारी सोच तुमसे यह बार बार कह रही है की हिमालया की चोटी बहुत दूर है और तुम थक चुके हों।”

जब की असल में तुम को ये सब सोचने के बजाय तुम्हे अपने अगले कदम के बारे में सोचना चाहिए। मतलब तुम्हारी मंजिल कितनी दूर है यह सोचने के बजाय तुम्हे अपना सारा ध्यान अपने अगले कदम पर केंद्रित करना चाहिए। बूढ़े आदमी की बात सुनकर उस व्यक्ति को यह रियलाइज होता हैं की वो कहा गलती कर रहा था।

इसके बाद फिर से वो जोश के साथ हिमालया की चोटी पर चढ़ने की कोशिश शुरू करता है। लेकिन इस टाइम वो सिर्फ अपने अगले स्टेप्स के बारे में ही सोचता है। एक एक कदम पर ध्यान देने के वजह से वो आदमी बिना ज्यादा थके कब हिमालया कि चोटी पर पहुंच जाता हैं, उसे खुद भी पता नहीं चलता।

दोस्तो ठीक वैसे ही हम सभी का भी कोई ना कोई सपना या लक्ष्य जरूर होता हैं, जिसे पूरा करने के लिए हम बहुत मेहनत करते हैं। ताकि भविष्य में हमे उस तरह की जिंदगी जीने को मिले, जैसी हम चाहते हैं। लेकिन उस डिजायर लाइफ को पाने की चक्कर में जितना हमे हार्ड वर्क करना चाहिए उतना हार्ड वर्क हम नही कर पाते हैं।

क्योंकि हमे हमारे अंदर कितना पोटेंशियल है? इसका कोई अंदाजा नहीं होता हैं। इसीलिए बस थोड़ा बहुत एफर्ट लगा कर ही हम चीजों को क्विट कर देते है। और उसके बाद हम लाईफ टाइम ऐसे ही अपनी जिंदगी को कोचते रहते हैं, या फिर हम अपनी हर फैलीयर का इल्जाम हम दूसरो पर लगाने लगते है। जब की अपनी true potential को identify करना हमारी सोच से भी ज्यादा आसान है।

दोस्तो इस किताब के लेखक रोबिन शर्मा जी ने अपनी megaleaving Book में कुछ ऐसी टिप्स बताए हुए हैं, जिन्हे 30 दिन तक फॉलो करके आप अपनी असली पोटेंशियल तक आसानी से पहुंच पायेंगे। तो अगर आप भी उस आदमी की तरह अपने गोल के बारे में सोचे बिना सिर्फ अगले स्टेप्स को लेकर ही अपनी मन चाही डेस्टिनेशन तक पहुंचना चाहते हैं, तो आप इस MegaLeaving Summary in Hindi आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़िए।

क्योंकि दोस्तो यह आर्टिकल आपको आपके भविष्य को सही दिशा देने में आपकी बहुत सहायता करेंगी। तो बिना टाइम को वेस्ट किए चलिए शुरू करते हैं….

Developing a Mission Statement

दोस्तो Amazon कंपनी को दुनिया का हर कोई आदमी जानता है, क्योंकि इकोमर्स प्लेटफार्म के मामले ये कंपनी टॉप पर खड़ी हुई है। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि जब जेफ बेजोस जी ने इस कंपनी की शुरुवात की हुई थी, तब उनका मकसद सिर्फ दुनिया के बाहर के लोगो को बुक्स पहुंचना था। पर उनका मिशन स्टेटमेंट इतना स्ट्रॉन्ग था की फिर धीरे धीरे अलग अलग देश के लोग उनके साथ जुड़ते चले गए।

फिर जब जेफ बेजोस जी को लगा कि ऑडियंस कुछ ज्यादा ही हो गई है, तब उन्होंने साल 2007 में एमेजॉन किंडल को शुरू करा। ताकि जो लोग अपने साथ किताबों को लेकर नही जा सकते है, वे लोग सिर्फ पीडीएफ को पढ़कर ही नॉलेज ले ले। और फिर किंडल के हिट हो जाने के बाद उन्होंने धीरे धीरे और अलग तरह के प्रोडक्ट्स को अपनी कंपनी में add करते गए।

और आज इस कम्पनी को टक्कर देने वाला कोई भी नही है। दोस्तो दुनिया के हर कामयाब इंसान का कोई ना कोई मिशन स्टेटमेंट जरूर होता हैं। जैसे मार्क जुकरबर्ग का मिशन स्टेटमेंट लोगो को एक दुसरे से कनेक्ट करना था और बिल गेट्स का मिशन स्टेटमेंट था घर घर में कंप्यूटर को पहुंचाना था और एलोन मस्क का मिशन स्टेटमेंट था, स्पेस में जाने वाले रॉकेट्स का दुबारा इस्तमाल में लाना।

दोस्तो बेसिकली मिशन स्टेटमेंट का मतलब होता हैं, वैल्यू या कोई ऐसी चीज जो आप दूसरो को देना चाहते हैं। यानी की आपका कोई ऐसा काम जिसे आप चाहते हैं की पूरी दुनिया याद रखे। हर इंसान के पास उसका मिशन स्टेटमेंट का होना बहुत जरूरी है। अगर आपके पास कोई मिशन स्टेटमेंट नही है, तो आपका हाल उसी ड्राइवर की तरह हो जायेगा, जो बिना किसी डेस्टिनेशन के बस चलता जाता है।

जिससे एक टाइम ऐसा आता है की वो रास्ता ही भटक जाता हैं। और वो कही पर भी नही पहुंच पाता है। इसीलिए लेखक रोबिन शर्मा जी कहते है की अपने भविष्य को सही दिशा देणे के लिये अपना एक मिशन स्टेटमेंट बनाओं। अगर आपको ये समझ में नहीं आ रहा है की खुद का एक मिशन स्टेटमेंट आखिर कैसे बनाना चाहिए?

तो आप सीधे वो चीजे लिख लो, जो आप दुसरो के लिए करना चाहते हैं और जिससे उनको कुछ फायदा मिल सके। जैसे जैसे आप आगे बढ़ते रहेंगे, वैसे वैसे ही आप अपने मिशन को और ज्यादा मोडिफाई कर सकते हैं। और इस काम के लिए आपको सिर्फ 30 दिन ही देने है। और इसी द्वरान आप खुद में देखेंगे की आपकी सोच में काफी बदलाव आ चुका होगा।

Limitless living

दोस्तो फेमस बॉडी बिल्डर और एक्टर आर्नोल्ड स्विजनेगर जी ने शुरू में ही अपने ट्रेनर से कहा था की में आगे चलकर जरूर मिस्टर यूनिवर्स बनूंगा, और उस टाइम में वो बहुत ज्यादा पतले हुआ करते थे और उनकी फाइनेंशियल कंडीशन भी इतनी खास नहीं थी कि वो मसल बिल्डिंग को एफोर्ड कर पाए।

आर्नोल्ड कि यह बात सुनकर jym ट्रेनर कहते हैं की मिस्टर यूनिवर्स बनना कोई बच्चों का खेल नही है। इसके लिए प्रॉपर डायट और ट्रैनिंग इन सब की जरूरत पड़ती है। मेरी मानो तो तुम इस तरह के सपने देखना बंद कर दो, क्योंकि ये तुम्हारी पहुंच से भी बाहर हैं। लेकिन आर्नोल्ड ने तब उनकी बातो पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया और उनके पास जितने भी पैसे मौजूद थे, उन पैसों से उन्होंने अपनी ट्रेनिंग शुरू करदी।

और आज सभी जानते हैं की आर्नोल्ड जी आज किस लेवल पर है। वो आज मिस्टर यूनिवर्स तो ही ही उसके साथ ही वो एक एक्टर और अमेरिका देश के गवर्नर भी रह चुके हैं। दोस्तो यह सब संभव हो पाया क्योंकि Arnold Schwarzenegger ऐसे लोगो में से नही थे, जो की दुसरो के एडवाइज पर चलते हैं।

उन्होंने कभी भी अपनी लिमिट्स को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और हमेशा अपनी लिमिट्स को पुश करते गए, जैसे डेविड गोगिंस जी ने अपनी लाइफ में किया था।

दोस्तो इसी तरह हमारे आस पास भी कई लोग हैं, जो हम पर लिमिट्स लगाते रहते हैं, और बार बार ये दिखाने की कोशिश करते हैं की ये जो तुम कर रहे हों, ये बिल्कुल भी ठीक नहीं है। जिससे हमारा ज्यादा तर टाइम हमारा माइंड खुद ये सोचने के लिए मजबूर हो जाता हैं की हो सकता है कि ये सच बोल रहे हो। यही अगर आप अपने पोटेंशियल पर क्वेश्चन मार्क लगा देते हैं और अपनी लिमिट्स में रहना शुरू करते हैं, जो फिर से हमारे लिए सही नही है।

इसीलिए ऑथर कहते है की “अगर आपका कोई सपना है, जो आपको लगता हैं की आप उसे मेहनत करके अचीव कर सकते हैं। तो उस सपने पर आप कोई लिमिटेशंस मत लगाओ और अपने माइंड को ये विश्वास दिलाओ की चाहे कुछ भी हो जाए, या कोई दूसरा इंसान कुछ भी कहे या मुझे खुद ही कितनी भी मेहनत करनी पड़ जाए तो भी चलेगा लेकिन फिर भी में कैसे भी करके में अपने लक्ष्य को हासिल करके ही रहूंगा।

दोस्तों सिर्फ 30 दिनों तक ऐसी जिंदगी को जी कर देखो, उसके बाद आपको खुद ही महसूस होने लगेगा की आपकी जिंदगी में बदलाव आना शुरू हो गया है।

Make a Journal

दोस्तों स्टडी रिसर्चर में यह पाया गया है कि, जो लोग हर रोज जर्नल लिखना पसंद करते है, उन लोगों की लाइफ बेहतर होती है, उन लोगों से जो लोग जर्नल नही लिखते हैं। क्योंकि हर रोज जर्नल लिखने से उनको कई सारे फायदे मिलते हैं। जैसे की उनकी मेमोरी इंक्रीज होती है, उनका कॉन्फीडेंस बढ़ जाता हैं, वो किसी भी प्रॉब्लम्स को बहुत ही अच्छी तरीके से सॉल्व करते हैं।

मतलब ओवर ऑल आप ये समझ सकते है की जर्नलिंग करने से आपको ये पता लग जायेगा की आपकी एक्जैक्ट प्रोब्लम क्या है। और किस तरह से आप उस प्रॉब्लम्स को सॉल्व कर सकते हो। इसीलिए अगले 30 दिनों तक आपको एक पेपर और एक पैन लेना है और जो भी आपने गोल्स सेट किए हुए है, उनको डिसक्राइब करना है।

जैसे की आपका गोल क्या है? आप उस गोल को कितना अचीव कर चुके हो? और उस गोल के वजह से आपकी लाइफ में कितना बदलाव आ चुका है। ऐसा करने से आप अपनी लाइफ में चल रही सिच्वेशन को ट्रैक कर पाएंगे और उसमे प्रोग्रेस ला पाएंगे।

Increase your Concentration Power

दोस्तों हमारे माइंड का फोकस दिन ब दिन कम होता चला जा रहा है। लोग सिर्फ मिनिट में ही डिसाइड कर लेते हैं की क्या उनके लिए सही है और क्या उनके लिए बुरा है। जो और कुछ नही बल्कि इस बात का साइन है की हमारा Concentration level दिन ब दिन कम होता चला जा रहा है।

लेकिन दोस्तो आप इसे नजरंदाज करने की कोशिश भी मत करना, क्योंकि ये चीज भविष्य में नाकाम होने का एक बहुत ही बड़ा कारण बन सकता है। क्योंकि कम एकाग्रता शक्ति होने की वजह से आप किसी एक चीज पर फोकस नही कर पाओगे और आप डायवर्ट हो जाओगे।

इसीलिए अगले 30 दिनों के लिए अपनी एकाग्रता शक्ति को बढ़ाने के लिए आपको आपके माइंड से फोकस कराना होगा, वो भी बिना डिस्ट्रैक्ट हुए और ऐसा करने के लिए हमे लेखक दो तरीके सजेस्ट करते हैं और वो 2 तरीके है👇👇

पहिला तरीका यह है की जब आप रात को सोने के लिए बैड पर लेट जाओ, तब अपनी आंखे बंद करके अपना पूरा फोकस अपनी सांसों पर ले आना और देखना की ये आप कितनी देर तक कर पा रहे हो। इससे आपको पहले ही बार में यह अंदाजा हो जाएगा की आखिर आपकी एकाग्रता किस लेवल पर हैं। दूसरा तरीका यह है की आप अपनी मन पसंद किताब को पढ़ सकते हैं।

दोस्तो ये भी अपने एकाग्रता शक्ति के बारे में जानने का एक बहुत ही आसान तरीका है। इन दोनो ही चीजों में जब जब आपका concentration ब्रेक होने लगे तब आप उस पर फिर से कंसंट्रेट करने की कोशिश कीजिए। ये सुनने में आपको एक नॉर्मल सा काम लग रहा होगा, लेकिन ये छोटी सी प्रैक्टिस आपके लाइफ में बहुत बड़ा बदलाव ला सकती है।

दोस्तो इसे आप एटलिस्ट 30 दिनों तक करने की कोशिश जरूर कीजिए, और अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपकी लाइफ में बदलाव आना तय है। दोस्तो ये सब बाते मैने रोबिन शर्मा जी कि बेस्ट सेलर जियो शान से किताब में से बताई हुई है। इस बुक ने मुझे पर्सनली मेरी सेल्फ ग्रोथ में काफी हेल्प की हुई है। और में आशा करता हू की आपको भी इस आर्टिकल में बताई हुई बाते हेल्प करेगी।

दोस्तो यह थी megaliving book summary in Hindi में आप सभी को कैसे लगी? कृपया हमे नीचे कमेंट बॉक्स में कॉमेंट करके ज़रूर बताएं। और अपने दोस्तों के साथ Megaliving Summary in Hindi आर्टिकल को अवश्य शेयर कीजिए।

हमारे अन्य आर्टिकल्स

Megaliving Book in Hindi PDF Free download | Megaliving Hindi Pdf Free Download

दोस्तो अगर आप megaliving hindi pdf free download करना चाहते हैं? तो आप नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक कीजिए और Megaliving Book in Hindi PDF Free download कीजिए।

Megaliving 30 days to a Perfect Life pdf free download 👈👈

Megaliving Audiobook Summary in Hindi

दोस्तों अगर आप Megaliving Audiobook Summary in Hindi में सुनना चाहते हैं? तो आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक कीजिए और Kuku FM Audiobook App को डाउनलोड कीजिए।

दोस्तो लेकिन kuku FM Audiobook App की सलाना सब्सक्रिप्शन ₹399 रुपए है, जिसमे आप हजारों ऑडियो बुक्स को कभी भी और कही पर भी सुन सकते है। लेकिन अगर आप subscription लेते वक्त मेरे कूपन कोड “HOLI50” को अप्लाई करते हो, तो आपको सलाना subscription ₹399 में नही बल्कि ₹199 रुपए में मिल जायेगी।

यह कूपन कोड सिर्फ पहले 250 users के लिए ही एप्लिकेबल है, इसीलिए जल्दी से जल्दी नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके, प्ले स्टोर से kuku FM ऑडियो बुक ऐप को डाउनलोड कीजिए और मेरे कूपन कोड “HOLI50” को अप्लाई कीजिए और Megaliving, the secret, Power of Habit, The Compound Effect, Rich Dad Poor Dad जैसे हजारों best seller किताबों की ऑडियोबुक एक्सेस सिर्फ ₹199 रुपए में लीजिए।

Kuku FM Audiobook App 👈👈

दोस्तों आज के इस megaliving Book Summary in Hindi आर्टिकल में सिर्फ इतना ही फिर मिलेंगे ऐसे ही एक इंट्रेस्टिंग आर्टिकल के साथ तब तक के लिए आप जहा भी रहिए खुश रहिए।

धन्यवाद आपका दिन शुभ हो।

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये.

Leave a Comment