Top 21 Best Personality Development Tips in Hindi

Top 21 Best Personality Development Tips in Hindi, पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स इन हिंदी, पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करे?, Personality Development in Hindi

नमस्कार नमस्कार दोस्तों, आप सभी का नॉलेज ग्रो मोटिवेशनल ब्लॉग पर स्वागत है। दोस्तो क्या आप पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्या है?, पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्यों जरुरी है और पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करे? इस बारे में जानकारी जानना चाहते हैं? तो आप सही जगह पर आए हुए हैं।

Personality Development Tips in Hindi | Personality Development in Hindi
Personality Development Tips in Hindi | Personality Development in Hindi
अनुक्रम दिखाएँ

Top 21 Best Personality Development Tips in Hindi

दोस्तो यहां पर आपको सीखने को मिलेगा की पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्या है?, पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्यों जरुरी है और उसके साथी ही आपको टॉप 21 पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स इन हिंदी में पढ़ने को मिलेंगे। तो बिना समय को गवाएं चलिए शुरू करते हैं।

पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्या है और पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्यों जरुरी है?

दोस्तो कुछ लोग ऐसे होते हैं, जो लोगो के साथ घुल मिल नही पाते हैं, उन्हे यह लगता है की लोग हमे पसंद नही करते हैं, और हम किसी को भी अच्छे नही लगते हैं। हम ज्यादा मित्र नही बना पाते और हम लोगो पे प्रभाव नही छोड़ पाते?

ऐसा इसीलिए होता है की क्योंकि आप ऐसी छोटी छोटी गलतियां कर जाते हैं, जिसके वजह से ना आप खुद कॉन्फिडेंट रहते है और नाही आपकी पर्सनालिटी का प्रभाव दूसरो पर पड़ता है। अब जानते हैं 👇

पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करे? Personality Development in Hindi

दोस्तो पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें यह बताने के लिए हमने खास आपके लिए पर्सनालिटी डेवलपमेंट करने के 21 तरीके नीचे बताए हुए हैं। हम आशा करते हैं की आपको जरूर पसंद आएंगे और आपके लिए उपयोगी साबित होंगे।

यदि आप नीचे दिए गए पर्सनालिटी डेवलपमेंट करने के 21 तरीको को अगर आप सीखते हैं और अपने ऊपर इंप्लीमेंट करते हैं, तो आप जहा भी जाएंगे वहा पर हर किसी को प्रभावित कर पायेंगे। चाहे वो आपकी फैमिली वाले हो या रिश्ते हो या आपका कोई मित्र हो, हर किसी के लाइफ में आपका एक खास प्रभाव रहेगा।

दोस्तो आप एक बात हमेशा याद रखना की “कीमत इंसान की नही होती है, बल्कि कीमत इंसान के गुणों की और उसकी समझ की होती है”

Top 21 Best Personality Development Tips in Hindi

1. दूसरो की कमियां मत निकाले।

दोस्तो जो लोग दूसरों की हमेशा कमियां निकलते रहते हैं, वो किसी को भी अच्छे नही लगते हैं। आप खुद सोचकर देख लीजिए की क्या आपको ऐसा इंसान अच्छा लगेगा? जो आपको आकर आपकी बुराइयां करे और आपके लिए गलत बोले? नही ना!

आपको वो इंसान कभी भी अच्छा नही लगेगा, तो यह बुरी आदत आप में है, तो आप किसी को भी अच्छे नही लगेंगे। अब कुछ लोग कहते की हम तो उसकी भलाई के लिए ही कह रहे हैं। अगर आपको किसी की भलाई के लिए कुछ कहना भी है, तो पहले आप यह समझिए की क्या वो इंसान इस बात को सुनने और समझने के लिए तैयार है?

क्या वो इंसान उन बातो को अंडर स्टैंड कर पाएगा? क्योंकि ऐसा कहा जाता हैं की “मूर्ख इंसान भलाई की बात मानता ही नहीं है, बल्कि वो आपसे ही लढ़ता है” दोस्तो समझदार इंसान ही आपकी बातो को सुनेगा और समझेगा। आप हर इंसान को सुधारने का प्रयास मत करिए।

लोगो की कमिया और बुराइयां मत निकालिए। इससे लोग आपसे दूर होते चले जाएंगे, और आप किसी को भी अच्छे नही लगेंगे।

Personality Development Tips in Hindi

2. भरोसे मंद और वफादार बनिए।

दोस्तो एक पुरानी कहावत है की “एक छटाक वफादारी एक सेर चालाकी से ज्यादा अच्छी है” और यह सर्वव्यापी और अटल नियम है। दोस्तो काबिलियत बहुत जरूरी है, लेकिन भरोसेमंद होना अनिवार्य है।

दोस्तो अगर आपके साथ कोई ऐसा व्यक्ति है, जिसमे सारी खूबियां हैं, लेकिन भरोसेमंद नही है, तो क्या आप ऐसे व्यक्ति को अपनी में रखना पसंद कोरोगे? बिलकुल भी नही ना। भरोसे मंद और वफादार बनना क्यों जरूरी है यह मे आपको एक कहानी के द्वारा समझाने का प्रयास करूंगा।

दोस्तो बचपन के 2 ऐसे दोस्त थे, जो स्कूल, कॉलेज और यहां तक की फौज में भी साथ ही भर्ती हुए थे। एक दिन युद्ध छिड़ गया और दोनो भी एक ही यूनिट में थे, एक रात उन पर हमला हो गया और चारों तरफ गोलियां बरस रही थी। ऐसे में अंधेरे से एक आवाज आई, सुनील इधर आओ मेरी मदद करो।

सुनील ने अपने बचपन के दोस्त अनिल की आवाज फौरन पहचान ली। सुनील ने अपने कैप्टन से पूछा की क्या में जा सकता हूं? तो कैप्टन ने जवाब दिया की, नही, में तुम्हे जाने की इजाजत नहीं दे सकता, क्योंकि मेरे पहले से ही आदमी कम है, इसीलिए मैं अपने एक और आदमी को नहीं खोना चाहता।

Personality Development in Hindi | पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें

साथ ही अनिल के आवाज से ऐसा लग रहा था की वह बचेगा नही। सुनील चुप रहा और फिर वही आवाज आई, सुनील इधर आओ मेरी मदद करो। सुनील चुप बैठा रहा क्यूंकि कैप्टन ने उसे जाने की इजाजत नहीं दी हुई थी। फिर वही आवाज बार बार आई।

अब सुनील अपने को और ज्यादा रोक नही सका और उसने कैप्टन से कहा, की कैप्टन वह मेरे बचपन का दोस्त है और इसीलिए मुझे उसकी मदद करने के लिए जाना ही होंगा। फिर कैप्टन ने उसे जाने की इजाजत दे दी। सुनील अंधेरे में रेंगता हुआ आगे बढ़ा और अनिल को लेकर वापस लौट आए।

उन लोगो ने पाया की अनिल तो मर चुका था। अब कैप्टन नाराज हो गया और सुनील पर चिल्लाया, और सुनील से कहा की, मैने कहा था ना की वह नही बचेगा, वह तो मर गया है और उसके साथ तुम भी मर जाते और में अपना एक और आदमी खो बैठता।

तुमने वहा जाकर गलती की थी। फिर सुनील ने अपने कैप्टन को जवाब दिया की कैप्टन मैंने जो किया वह ठीक था। क्योंकि जब में अनिल के पास पहुंचा तो वह जिंदा था, और तब उसके जो आखरी शब्द थे, जिसने मुझे अंदर से बहुत इमोशनल किया। 👇👇👇

“सुनील, मुझे यकीन था की तुम जरूर आओगे।”

दोस्तो अच्छे रिश्ते बड़ी मुश्किल से बनते हैं और एक बार बन जाए , तो उन्हें निभाना चाहिए। हमसे एकसर कहा जाता है की अपने सपनो को साकार करो। मगर हम अपने सपनों को दूसरो की कीमत पर असलियत का रूप नही दे सकते। ऐसा करने वालो के पास चरित्र नही होता है।

हमे अपने परिवार, दोस्तो और उन लोगो के लिए जिनकी हमे परवाह करते हैं और जो हम पर निर्भर करते हैं, अपने निजी हितों का त्याग करना चाहिए।

Personality Development Tips in Hindi

3. दयालुता

दोस्तो पैसे से बहुत महंगा कुत्ता तो खरीदा जा सकता है, मगर वह पूंछ हमारे प्यार और दयालुता की वजह से ही हिलाएगा। दया का भाव जल्दी से जल्दी दिखाना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने में कब देर हो जाए, कुछ कहा नही जा सकता है।

दोस्तो दयालुता एक ऐसी भाषा है जिसे बहरे भी सुन सकते हैं और अंधे भी देख सकते हैं। एक दोस्त के जीवित रहते ही उसके प्रति दयालुता दिखाना बेहतर है , बजाय इसके की उसके मर जाने के बाद उसकी कब्र पर फूल चढ़ाया जाए।

दयालुता की भावना इंसान में अच्छी अनुभूति पैदा करती हैं, चाहे व्यक्ति इस भावना को किसी और के लिए दिखाए या दूसरे लोग उसके प्रति दिखाए। मीठी बोली बोलने से जीभ को कोई तकलीफ नही होती।

Personality Development Tips in Hindi

4. पीठ पीछे बाते ना करें।

दोस्ती याद रखे की जो लोग हमारे सामने किसी दूसरो की बाते करते हैं, वे हमारी पीठ पीछे हमारे बारे में भी बात करते हैं। गप्पा हांकने और झूठ बोलने वालो के बीच करीबी रिश्ता होता है।

एक गप्पी बाते सुनता तो जल्दबाजी में है, मगर उन्हे मजे से लेकर सुनता है। वह अपने काम पर ध्यान नहीं देता है, क्योंकि ना तो उसके पास काम होता है और ना ही दिमाग होता है। गप्पि की दिलचस्पी काम की बातो से ज्यादा उड़ती खबरों को सुनने में होती है।

दोस्तो किसी महान इंसान ने कहा है की 👇👇👇

“छोटे लोग दूसरों के बारे में बाते करते हैं, मध्यम स्तर के लोग चीजों के बारे में बाते करते हैं, और महान लोग विचारो के बारे में बाते करते हैं।”

गप्पा मारने से किसी के चरित्र की निंदा भी हो सकती है और बदनामी भी हो सकती है। गप्पा सुनने वाले उतने ही दोषी है, जीतने की गप्पा मारने वाले लोग दोषी है। गप्पा हांकने वाला इंसान अक्सर अपनी ही बातों के जाल में फस जाता है।

दोस्तो गप्पा मारने वाला इंसान किसी का आदर नहीं करता और वह सभी लोगों के दिलो को तोड़ता रहता है। और जिंदगीयो को तबाह करता रहता है। वह धूर्त और दुर्भावना से भरा होता है। वह असहाय और कमजोर इंसान को अपना शिकार बनाता है।

Personality Development in Hindi | पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें

दोस्तो अगली बार जब आप गप्पा का मज़ा ले रहे होते हो, तो खुद से एक बार जरूर पूछिए की👇👇👇

  • क्या इसमें सच्चाई है?
  • क्या यह जरूरी है?
  • क्या में अफवाहे फैला रहा हूं?
  • क्या में अफवाहे फैलाने में मजा लेता हूं और इसके लिए दूसरो को उकसाता हु?

दोस्तो आप हमेशा याद रखे की , छोटे मुंह वाले बड़ी बाते करते हैं। इसीलिए दूसरो के पीठ पीछे बात न करें, अगर आप सफल व्यक्ति बनना चाहते है तो..

Personality Development Tips in Hindi

5. लोगो को और उनकी कामों के लिए क्रेडिट दीजिए।

दोस्तो जब तक आप लोगो को और उनके कामों को क्रेडिट यानी की वैल्यू नही देते हैं, तब तक आप उनको दिल में स्पेशल जगह ले ही नही पाएंगे। भले ही आपको लगता है की किसी ने आपके लिए सिर्फ थोड़ा सा ही तो किया है। दोस्तो वो चीज आपके लिए थोड़ी सी हो सकती है।

लेकिन कोई इंसान आपके लिए कुछ कर रहा है, तो उसके लिए बहुत बड़ी चीज है। अगर आप उसके काम को और उसके एफर्ट्स को वैल्यू नही देंगे, तो वह इंसान मन ही मन कहेगा कि इसके लिए मुझे कुछ करना ही नही है, क्योंकि में इसके लिए चाहे कुछ भी कर लू, ये उसकी वैल्यू कभी करेगा ही नही और इसे किसी की कदर ही नही है।

और सब लोग आपसे दूर हो जायेगे, इसीलिए अगर आप चाहते हैं की लोग आपको चाहे और आपको पसंद करे, तो आपको लोगो को उनके प्यार का क्रेडिट देना सीखिए कि, हां की ये इसने किया हुआ है और बहुत अच्छा काम किया हुआ है।

उन्हे वैल्यू दीजिए कि वो अपने आप में और आपके लिए कितने स्पेशल है। जब लोगो को वैल्यू देते हैं, तो उनके दिल में आपके लिए एक खास जगह बन जाती हैं। जिसकी वजह लोग आपको पसंद करने लगते हैं और आपको चाहने लगते हैं।

Personality Development Tips in Hindi

6. छोटी छोटी बातों पर गुस्सा होना बंद करे।

दोस्तो जो लोग छोटी छोटी बातों पर गुस्सा होते हैं, वे लोग किसी को भी अच्छे नही लगते हैं। और जो लोग शांत और हैप्पी नेचर के होते हैं, वे लोग सभी को आकर्षित करते हैं और सभी को अच्छे लगते हैं।

जिस इंसान को हर बात बुरी लगती है और हर बात पे गुस्सा आता है, तो लोग कहते हैं की इससे तो हमे बात ही नही चाहिएं, इससे कुछ कहो तो वो और भी ज्यादा गुस्सा हो जाता है। इससे दूर रहो तो ही अच्छा है।

इसीलिए हर बात को आप अपने दिल पे मत लगाइए, लोगो की हसी मजाक को हसी मजाक में ही ले लीजिए। हर बात पे ओवर रिएक्ट नही करना चाहिए। और जब आप शांत और खुश इंसान बनकर जीते हैं, तो आपकी ओरा दूसरो की जिंदगी में शांति और खुशियां लाती है।

जिसके वजह लोग आपसे पर्सनली कनेक्ट रहना पसंद करने लगते हैं और आपके साथ जुड़ना पसंद करने लगते है.

Personality Development Tips in Hindi

7. विश्वसनीयता को मत खोइए

उस चरवाहे लड़के की कहानी हम सभी जानते हैं, जो भेड़िया आया भेड़िया आया चिल्लाता रहता था। उस लड़के ने गाँव वालों को परेशान करके मज़ा लेने की सोची और वह चिल्लाया,” बचाओ बचाओ भेड़िया आया।

गाँव वालों ने उसकी आवाज सुनी और उसे बचाने के लिए दौड़े। जब वे वहाँ पहुँचे तो उन्होंने देखा कि वहाँ कोई भेडिया नहीं था और वह बच्चा उन पर हँसने लगा। वे सब चले गए और अगले दिन उस लड़के ने फिर वही चाल खेली। गाँव वाले फिर मदद के लिए दौड़े।

एक दिन वह लड़का जब भेड़ों को चरा रहा था, तो उसने सचमुच एक भेड़िया देखा, और मदद के लिए चिल्लाया। गाँव वालों ने उस लड़के की आवाज़ तो सुनी , मगर उसकी मदद के लिए कोई नहीं आया।

Personality Development in Hindi | पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें

उन्होंने सोचा कि लड़का फिर वही चाल खेल रहा है उन लोगों ने उस पर यकीन नहीं किया। नतीजे के तौर पर उसकी भेड़े खाई गई, और उसका नुकसान बहुत हो गया।

दोस्तों इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि👇👇👇

“जब लोग झूठ बोलते हैं, तो अपनी विश्वसनीयता खो देते हैं। एक बार जब वे अपनी विश्वसनीयता खो देते हैं, तो सच बोलने पर भी कोई उनका विश्वास नहीं करता।”

Personality Development Tips in Hindi

8. ओरो की परवाह करे।

दोस्तो ओरो की परवाह करना क्यों जरूरी है? यह ने आपको एक छोटी सी कहानी के द्वारा समझाने की कोशिश करता हूं। एक दिन 10 साल का एक बच्चा एक 🍨 आइसक्रीम खाने के लिए एक आइसक्रीम के एक दुकान पर चला जाता है। टेबल पर बैठ कर उसने उस महिला वेटर से पूछा की एक 🍨 कोन कितने की है?

तब इस महिला वेटर ने कहा की $0.75 की है। तो वह बच्चा पैसे हाथ में लेकर उसे गिनने लगा और उस महिला वेटर से पूछा की छोटी कप वाली आइसक्रीम कितने की है? $0.65 डॉलर की है। फिर लड़का बोला की मुझे वो छोटा कप वाली आइसक्रीम ही दे दीजिए।

लड़के ने अपने आईसक्राम को खाया और पैसे दिए और वहा से चला गया। जब वह महिला वेटर खाली प्लेट को उठाने के लिए टेबल के पास आई तो, और फिर उसने जो कुछ देखा, वह बात उसके मन को छू गई।

उस बच्चे ने वहा पर उस महिला वेटर के लिए 0.10 डॉलर टिप के रखे हुए थे। उस छोटे लड़के ने उस महिला वेटर का खयाल किया और उसने संवेदन शीलता दिखाई। उस छोटे लड़के ने खुद से पहले दूसरो के बारे में सोचा।

दोस्तो अगर हम भी सब एक दूसरे के लिए उस छोटे लड़के की तरह सोचने लगे और उसके जैसा व्यवहार करने लगे। तो यह दुनिया कितनी हसीन हो जाएगी। दोस्तो इसीलिए दूसरो का हमेशा खयाल करे और शिष्टता व नम्रता दिखाएं। दोस्तो दूसरो का खयाल करना यह दर्शाता है की हम उनकी परवाह करते हैं।

Personality Development Tips in Hindi

9. बहस न करें, बल्कि तर्क करे।

दोस्तो अगर हमे खुशहाल जीवन जीना है, तो हमे बहस नही करना चाहिए, बल्कि तर्क करना चाहिए। दोस्तो तकरार और बहस से बचा जा सकता है। किसी बहस को जीतने का सबसे अच्छा तरीका यह है की उसमे पड़ा ही न जाए।

दोस्तो बहस एक ऐसी चीज है, जिसे जीता नही जा सकता, क्योंकि अगर हम बहस करके जीत भी जाते हैं, तो भी हारेंगे और अगर हारते हैं, तो भी हम हारेंगे। कैसे आइए जानते हैं 👇

अगर हम एक बहस में जीत जाते हैं, मगर एक अच्छा दोस्त, एक अच्छी नौकरी, एक अच्छा ग्राहक या अच्छा जीवन साथी खो देते हैं। तो यह कैसी जीत है? बिलकुल खोखली। बहसबाजी झूठे अहंकार झूठे अहंकार से पैदा होती है।

दोस्तो बहस करना हारी हुई लड़ाई को लड़ने के समान है। अगर कोई जीतता भी है, तो उससे हासिल होने वाली चीज से ज्यादा कीमत चुकानी पड़ती है। जज्बाती लड़ाई या हमारे जीत जाने के बाद भी दिलो में दर्द छोड़ जाती है।

बहस में दोनो व्यक्ति अपनी अपनी बात मनवाने पर तुले हुए होते हैं। और बहसबाजी केवल अहंकार की एक ऐसी लढाई है, जिसमे एक दूसरे पर चिल्लाने कि होड़ सी लगी होती है। जो यह समझता है की वह सबकुछ जानता है वह तो बेवकूफ है ही ; लेकिन उससे बड़ा बेवकूफ वह है जो उससे बहस करता है।

दोस्तो हम जितनी भी बहस जीतते हैं, उतने ही हमारे दोस्त कम होते चले जाते हैं। अब सवाल यह उठता है की अगर हम ठीक भी हो, तो क्या बहस करना उचित है? तो इसका जवाब साफ है की बिलकुल नहीं। दोस्तो इसका मतलब यह नहीं है की हमे किसी की बात के विरोध में कभी कोई मुद्दा उठाना नही चाहिए?

जरूर उठाना चाहिए लेकिन नरमी और समझदारी से, और हमे तर्क करना चाहिए लेकिन बहस नहीं। या आप नजरंदाज करें। दोस्तो अगर कोई व्यक्ति जिंदगी में बड़ी चीजे हासिल करना चाहता है, तो उसे पूर्णतया कुशल और समझदार बनना पड़ेगा। यानि की छोटी छोटी बातों में और बहस में नही उलझना चाहिए।

Personality Development in Hindi | पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें

तर्क और बहस में क्या अंतर है?
  • बहस से आग निकलती है और तर्क से रोशनी निकलती हैं।
  • बहस अहंकार और बंद दिमाग से उपजती है, जब की तर्क खुले दिमाग या सीखने की भावना से उपजता है।
  • बहस में यह साबित करने की कोशिश की जाती है की कौन सही है, जब की तर्क में यह साबित किया जाता है की क्या सही है।
  • बहस में अज्ञानता की अदला बदली होती है, जब की तर्क से उनकी समझ दारी की अदला बदली होती हैं।
  • बहस से लोगो के मिजाज का पता चलता है, जब की तर्क से उनकी समजदारी का मिजाज पता चलता है। दोस्तो अब जानते हैं की 👇👇👇
तर्क शुरू करने के तरीके क्या हैं?
  • खुले विचारो वाले बने।
  • बहस में घसीटे न जाए।
  • बीच में न टोके।
  • अपने विचार कहने से पहले दूसरे के विचार सुने।
  • बात स्पष्ट करने के लिए सवाल पूछे। इससे दुसरे व्यक्ति को भी सोचना पड़ेगा।
  • बात को बढ़ा चढ़ाकर न कहे।
  • बात मनवाने के लिए उत्साह दिखाए, पर दवाब न डाले।
  • बात स्वीकार करने के लिए तैयार रहे।

Personality Development Tips in Hindi

10. एकदम से एक्शन ना ले।

दोस्तो कभी भी किसी सुनी सुनाई बातो पर एकदम से इंस्टेंट एक्शन ना ले। जो लोग किसी की भी बातो में आकर इंस्टेंट एक्शन ले लेते है, उन्हे बाद में बहुत पछताना पड़ता है। ऐसे लोग किसी के भी उपर भी विश्वास जल्दी करते हैं और किसी के ऊपर शक भी बहुत ही जल्दी कर लेते हैं।

इसी एक कमजोरी के वजह से कोई इनपर विश्वास नहीं कर पाता है, क्योंकि लोगो को यह लगता है कि इसका कोई भरोसा नहीं है, इसे कब क्या हो जाए पता नहीं और इसे विश्वास ही नहीं होता है और हमेशा शक ही करता रहता है।

दोस्तो अगर आप बिना सोचे समझे कोई भी जल्दी एक्शन ले लेते हैं, तो आप किसी व्यक्ति के साथ स्ट्रॉन्ग रिलेशनशिप बना ही नही सकते हो। अगर आप किसी व्यक्ति के साथ दिल से जुड़ना चाहते हो ना, तो आप थोड़ा धीरज रखना सीखिए और थोड़ा इंतजार करना सीखिए।

जब तक आपको किसी बात की पूरी हकीकत आपको पता न हो, तब तक जल्दी में आकर कोई भी निर्णय ना ले।

Personality Development Tips in Hindi

11. दूसरो की मदद करना सिखिए।

जो इंसान दूसरो की हेल्प करता है और दूसरो की तकलीफ में हेल्प करता है, वह व्यक्ति सभी को अच्छा लगता है। एक इंसान जो सेलफिश है और सिर्फ अपने बारे में ही सोचता है। और दूसरा इंसान जो दूसरो की मदद करता है और दूसरो की तकलीफ में उनका साथ देता है, हमेशा उसी इंसान के ज्यादा दोस्त होते हैं।

जो जितना ज्यादा सेलफिश वो उतना ज्यादा अकेला और जो ज्यादा हेल्पिंग नेचर का होंगा उतना ही उसकी लाइफ में अच्छे दोस्त जुड़ेंगे। दोस्तो आचार्य चाणक्य ने भी कहा है कि दुनिया की सबसे बड़ी संपत्ति धन नही है, बल्कि दुनिया की सबसे बड़ी संपत्ति अच्छे दोस्तो का साथ होना।

क्योंकि जो इंसान सबका साथ दे देता है और सब की मदद करता है, वो इंसान सबके लिए यूजफुल होता है और उसे सब लोग पसंद करते हैं। और उसके साथ हर कोई अपना contact बनाने की कोशिश करता रहता है। क्योंकि ये इंसान सब के सुख और दुख में काम आता है।

पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स फॉर फ्रेमलेस

12. कम बोले

दोस्तो जो इंसान ज्यादा बोलता है ना वो किसी को भी अच्छा नही लगता है, और वो इंसान सब को पकाने लगता है। दोस्तो आप बोलो कम और लोगो की बाते सुनो ज्यादा, और उसी से ही लोग आपसे ज्यादा कनेक्ट होंगे।

जो इंसान कम बोलता है और ज्यादा सुनता है, वही इंसान आकर्षण का कारण बनता है और सबको प्यारा लगता है। जो इंसान सिर्फ बकबक करता रहता है और बहुत बाते करता है, उससे कोई बात करना पसंद नहीं करता।

सब लोग उसे देखकर भाग जाते हैं, की अगर इसकी नजर हम पर पड़ गई तो पकड़ लेगा हमे और हमे पका देगा, इसीलिए जल्दी यहां से भागो, हमे इससे बाते ही नही करनी है। दोस्तो इसीलिए जब भी आप लोगो से मिले तो बोले कम और सुने ज्यादा।

Personality Development Tips in Hindi

13. ज्यादा खाना मत खाइए।

दोस्तो जो लोग ज्यादा खाना खाते हैं ना, वो हमेशा हंसी के पात्र बन जाते है। जो इंसान बहुत ज्यादा खाना खाता है, तो उसके पास नाही अच्छा शरीर होता है, जो सबको पसंद आए और नाही उसके पास ऐसी पर्सनेलिटी होती है, जो सबको अच्छी लगें। और सभी लोगो की नजर में उसकी पर्सनेलिटी गिरी हुई रहती है।

वो एक मजाक का पात्र बनके रह जाता है, इसीलिए अगर आप लोगो के बीच में है, भीड़ में और किसी फंक्शन में है, तो अपनी डाइट को बैलेंस में रखिए। कुछ लोगो की मेंट्यालिटी ऐसी होती है, की फ्री में मिल रहा है तो सिर्फ खाते जाओ कुछ भी छोड़ो, जितना खा सकोगे उतना खाओ।

Personality Development in Hindi | पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें

अरे भाई फ्री में है तो क्या हुआ शरीर तो आपका है ना, फिर बाद में बीमार तो आप ही होंगे और उसके बाद में मोटापे के वजह से हंसी का पात्र आप ही बनेंगे ना… इसीलिए हमेशा फ्री हो या पेड़ हो आपको सिर्फ उतना ही खाना है जितना आपके शरीर को जरूरत हो।

यानी की आपको सिर्फ 80% परसेंट ही खाना खाना चाहिए। अगर आप चाहते हैं की लोग आपको पसंद करे, तो अपने अंदर बहुत ज्यादा खाना खाने की आदत को कभी मत आने देना।

Personality Development Tips in Hindi

14. खुद के बारे में सभी को मत बता दें।

दोस्तो आप खुद के बारे में सभी को मत बता दे, आप जितना खुद को hide रखेंगे उतना ही लोग आपको जानना चाहेंगे। बहुत लोगो को ऐसी आदत होती है की अपनी पूरी Biography लोगो को बता देते हैं। सच कहूं तो ऐसे लोग किसी को भी स्पेशल नही लगते हैं।

अगर आप चाहते हैं की लोगो को आप स्पेशल लगे, तो खुद को थोड़ा hide करके रखिए, दूसरो के लिए खुली किताब मत बनिए। क्योंकि दोस्तो आज की दुनिया ऐसी है की पढ़कर आपको फाड़ देंगे, यानी की आपका इस्तमाल करने के बाद आपको छोड़ देंगे।

पर्सनालिटी डेवलपमेंट टिप्स फॉर स्टूडेंट्स

15. अच्छा पहनावा रखिए।

दोस्तो वो कहते हैं ना जो दिखता है ना वही बिकता है। आप कैसे दिखते हैं ना उसी से ही लोगो की आपके बारे में राय बनती है। आप कैसे चलते हैं और आप कैसे कपड़े पहनते हैं और आप खुद को कैसे कैरी करते हैं, वैसे ही लोग आपको ट्रीट करते हैं।

दोस्तो एक राजा की पहचान क्या होती है, क्या वह अपने साथ राज्य लेकर घूमता है? नही ना! राजा की चाल ढाल और उसका पहनावा ही उसको राजा बनाता है। और एक बिजनेस मैन की पहचान क्या होती है? क्या वो अपनी दुकान खोलके बैठा हुआ रहता है क्या? नही ना! बल्कि वो अपनी चाल ढाल और अपना पहनावा ऐसा रखता है की वो एक बिजनेस मैन लगे।

इसीलिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण यह है की आप अपनी पर्सनैलिटी को कैसे प्रेजेंट करते हैं और आप खुद को कैसे कैरी करते हैं। अगर आप खुद को मुर्छाए हुए और दुखी है तो लोगो की आपके बारे में वही राय बन जाती है, की ये इंसान तो महा दुखी है। और अगर आप खुद को एनर्जी के साथ और confident के साथ खुद को अच्छे से कैरी करते हैं, तो आप सबको अच्छे लगते हैं।

दोस्तो आप खुद को जैसा दिखाएंगे वैसा ही लोग आपको देखेंगे। अब ये आप पर डिपेंड करता है की आप खुद कैसे दिखाते हैं?

Personality Development Tips in Hindi

16. देना सीखे मांगना नहीं?

दोस्तो यह बात बहुत खास है और लोग इस बात पर बहुत कम ध्यान देते हैं और वो यह कि आप लोगो को देना सीखिए, मांगना नहीं। जब दूसरो से कुछ मांगते हैं तो आप उनकी और खुद की नजर में छोटा बन जाते है और आप दूसरो के सामने कमजोर दिखते हैं। चाहे वो प्यार हो या पैसा हो और चाहे वो पैसे हो, चाहे वो किसी का टाइम हो।

दोस्तो जितना हो सके अपनी तरफ से यह कोशिश करिए की आप लोगो को दे पाए। कही लोग कहते हैं की मेरे पास इतने पैसे नही है की में हर किसी को कुछ दे पाऊ. दोस्तो यहां बात सिर्फ पैसो की नही है, यदि आप किसी इंसान को सिंपती भी देते हैं, तो वो बहुत बड़ी बात होती हैं।

यदि आप किसी इंसान को रिस्पेक्ट देते हैं या प्यार देते हो, तो वो बहुत ही बडी बात होती हैं। यदि आप चाहते हैं की दुनिया आपकी तरफ आकर्षित हो और एक प्रभावशाली व्यक्ति बने तो अपने स्वभाव में मांगने की आदत मत डालिए बल्कि देने की आदत डालिए।

Personality Development Tips in Hindi

17. सबकी जीत के बारे में सोचे

दोस्तो एक आदमी के मरने बाद सेंट पीटर ने उससे पूछा की क्या तुम नर्क में जाना पसंद करोगे या स्वर्ग में जाना पसंद करोगे? फिर उस आदमी ने पूछा की फैसला कहा की में फैसला करने से पहले क्या में दोनो जगह देख सकता हूं?

सेंट पीटर ने उस आदमी से कहा की अवश्य दिखाऊंगा। फिर सेंट पीटर ने उस आदमी को पहले नर्क में ले गए, और वहा उस व्यक्ति ने एक हॉल देखा, जिसमे एक बड़ी मेज पर तरह तरह की सोने की चीजे राखी हुई थी। और उसने पीले और उदास चेहरे वाले लोगो की कतारे भी देखी।

दोस्तो वे लोग बहुत भूखे जान पड रहे थे, और वहा कोई हसी खुशी नही थी। उस आदमी ने एक और बात पर गौर किया की उनके हाथों में 4 फूट लंबे कांटे और छुरिया बंधी थी। जिनसे वे मेज के नीचे पर पड़े खाने को खाने की कोशिश कर रहे थे। मगर वे खा नही पा रहे थे।

Personality Development in Hindi | पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करें

फिर वह आदमी स्वर्ग को देखने गया और वहा पर उसने देखा की वहा भी एक बड़े हॉल में एक बड़ी मेज पर ढेर सारा खाना लगा हुआ था। उसने मेज के दोनों तरफ लोगो की लंबी कतारें देखी, जिनके हाथों में 4 फूट लंबी छुरी और कांटे बंधे हुए थे।

पर ये लोग खाना लेकर मेज की दूसरे तरफ से एक दूसरे को खाना खिला रहे थे। जिसका नतीजा था, खुशहाली , समृद्धि, आनंद और संतुष्टि। वे लोग सिर्फ अपने बारे में ही नही सोच रहे थे, बल्कि सबकी जीत के बारे में सोच रहे थे।

दोस्तो यही बात हमारे जीवन पर भी लागू होती हैं। जब हम अपने ग्राहकों , अपने परिवार , अपने मालिक, अपने कर्मचारियों की सेवा करते हैं, तो हमे जीत खोद ब खुद मिल जाती हैं।

Personality Development Tips in Hindi

18. जब हम कोई गलती करते है, तो उसे कबूल करते हुए आगे बढ़े।

दोस्तो अब में आपको एक अच्छा जीवन जीने की अच्छी फिलोसफी बताने वाला हु और वो है, “जब में गलती करू तो मुझमें इतनी शक्ति होनी चाहिए की में खुद को बदल सकू ; और जब मे कोई सही काम करू, तो मुझ में इतनी शक्ति होनी चाहिए मुझ में अहंकार न आए।” और यही अच्छा जीवन जीने की फिलोसफी है।

दोस्तो हमे अपनी गलतियो से सीखना चाहिए और उसके साथ ही अपनी गलतियों को फिर से दोहराना नही चाहिए। अपनी गलती के लिए न तो किसी पर दोष लगाए और ना ही बहाने बनाए। इस आप अड़े ना रहे। जब हम अपनी गलती को मेहसूस करे, तो बहुत अच्छा होगा की उसे स्वीकार करके माफी मांगे। अपनी सफाई न पेश करें, क्योंकि गलती स्वीकार करने से दूसरा व्यक्ति निरुत्तर हो जाता है।

Personality Development Tips in Hindi

19. अपनो को उनके स्पेशल दिन के लिए विश करें।

दोस्तो जो लोग अपने परिवार के लोगो को और दोस्तो को उनके स्पेशल दिन पे विष करते हैं, वो उनकी लाइफ में बहुत स्पेशल बन जाते हैं। अगर आप किसी के जन्मदिन के दिन उसे कॉल करके विश करते हैं, और उसे बधाई देते हैं, तो आप विश्वास रखना की वो इंसान आपकी इस बात को हमेशा याद रखेगा।

क्योंकि वो दिन उनके लिए बहुत ही स्पेशल होता है और आप उसे सरप्राइसली विश करते हैं, तो उस इंसान को बहुत अच्छा लगता है और इस बात को लोग सालो साल नही भूलते हैं। कि मेरे जन्मदिन के दिन या मैरेज एनीवरसिरी के दिन इस इंसान मुझे विश किया था।

भले ही आप मैसेज करके विश करते हो, लेकिन ऐसे स्पेशल दिन पे आप उन्हें कॉल करके विश कीजिए और उन्हे बधाई दीजिए। सच कह रहा हूं की एक छोटी सी चीज ना आपको उनकी जिंदगी में बहुत स्पेशल बना देगी।

Personality Development Tips in Hindi

20. हसने कि आदत डालिए और खुशमिजाज बने।

कुछ लोग खुशमिजाज किस्म के होते हैं और उनकी तरह आप भी हंसने की और हंसाने की आदत डालिए, क्योंकि इससे आप में अपनी कमिया पर भी हंसने की ताकत आ जायेगी। हंसने और हंसाने की आदत इंसान को हर दिल अजीज और आकर्षक बना देती है।

अपने आप पर हंसना सीखे क्योंकि यह सबसे ज्यादा महफूज मजाक है। खुद पर हसने से हमको गिरकर उठने की शक्ति मिलती है। सारी दुनिया में हंसी हर दर्द की कुदरती दवा है। हंसी मर्ज को भले ही मिटा न सके, लेकिन उसके दर्द को बेशक कम कर सकती है। इसीलिए हमेशा हंसते और दूसरो को हंसाते रहिए।

Personality Development Tips in Hindi

21. दूसरो का मजाक न उड़ाए और ना ही उन्हे नीचा दिखाए।

घटिया किस्म के हँसी मज़ाक़ में ताने कसने , दूसरों को नीचा दिखाने और दूसरों को तकलीफ पहुँचाने वाली बातें शामिल होती हैं। जिस मज़ाक़ में दूसरों पर कसे जाने वाले ताने शामिल हों, वह घटिया क़िस्म का होता है।

किसी चोट पहुंचाने वाले को माफ़ करना, अपमान करने वाले को माफ़ करने से ज्यादा आसान होता है। दूसरो को तकलीफ पहुंचाकर मजा हासिल करने वाले इंसान को हर चीज तब तक मजाक लगती है, जब तक वह दूसरों पर बितती है।

आपने अक्सर यह देखा होंगा की मजा लेने के लिए लड़के मेंढको पर पत्थर मारते हैं, पर इसका लडको का मजा मेंढको की मौत बन जाता है। और यह मेंढको के लिए मजे की बात नही है। हंसी का उपयोग या खतरनाक होना इस बात पर निर्भर करता है की हम किसी व्यक्ति के साथ हंस रहे हैं, या उस पर हंस रहे हैं।

जब हंसी का मकसद दूसरो का मजाक या हंसी उड़ना हो जाए तब वह न तो मासूम होती है और ना ही अच्छा प्रभाव छोड़ती है। दूसरो की भावना को चोट पहुंचाना क्रूरता की निशानी है। कुछ लोगो को दूसरो को नीचा दिखाने में मजा आता है। ताने देने की आदत लोगो को हमसे दूर करती हैं।

दोस्तो इसीलिए कभी भी दूसरो का मजाक न उड़ाए और ना ही उन्हे नीचा दिखाए।

दोस्तों आज के इस Personality Development Tips in Hindi आर्टिकल में सिर्फ इतना ही, दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसा लगा निचे कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट करके जरुर बताये, और साथ ही अगर आपको Personality Development Tips in Hindi आर्टिकल पसंद आया होगा और आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा, तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर कीजिये.

अन्य आर्टिकल्स:

  1. ये 5 आदते जो आपका जीवन बदल देंगी
  2. सफलता क्या है और सफलता कैसे हासिल करे?
  3. सफल जीवन के 100 नियम
  4. Top 7 Powerful Motivational Speech in Hindi For Success
  5. २००+ मनोवैज्ञानिक तथ्य हिंदी में
  6. अमीर बनने के 5 सुनहरे नियम
  7. टॉप 10 रियल लाइफ इन्स्पीरेशनल स्टोरीज इन हिंदी में
  8. गोल सेटिंग कैसे करे और गोल सेटिंग क्यों जरुरी है?

Personality Development in Hindi PDF – पर्सनालिटी डेवलपमेंट PDF

दोस्तों अगर आप Personality Development in Hindi PDF Free Download करना चाहते है? तो निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कीजिये और Personality development PDF Free Download कीजिये.

personality development – hindi book pdf

दोस्तों हमारे साथ जुड़े रहने केलिए हमारे नॉलेज ग्रो मोटिवेशनल ब्लॉग को निचे लेफ्ट साइड में दिए गए बेल आइकॉन पर क्लिक करके सब्सक्राइब जरुर कीजिये. दोस्तों आज के इस Personality Development Tips in Hindi आर्टिकल में सिर्फ इतना ही, दोस्तों फिर मिलेंगे ऐसे ही एक शानदार आर्टिकल के साथ तब तक के लिए आप जहा भी रहिये खुश रहिये.

धन्यवाद आपका दिन शुभ हो…

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये.

Leave a Comment