जानिए कैसे एक छोटा सा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है [With Pdf Download]

जानिए कैसे एक छोटा सा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है | One Small Step Can Change Your Life Book Summary in Hindi

नमस्कार दोस्तों आप सभी का नॉलेज ग्रो मोटिवेशनल ब्लॉग पर स्वागत है। दोस्तो आज का आर्टिकल आप सब के लिए बहुत ही स्पेशल और लाइफ चेंजिंग साबित होने वाला है। क्योंकि दोस्तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से में आपको बताने वाला हु की “कैसे एक छोटा सा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है।”

एक छोटा सा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है? | One Small Step Can Change Your Life Book Summary in Hindi
एक छोटा सा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है? | One Small Step Can Change Your Life Book Summary in Hindi

जानिए कैसे एक छोटा सा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है? | One Small Step Can Change Your Life Book Summary in Hindi

दोस्तो क्या आप अपने अंदर परिवर्तन करना चाहते हैं? लेकिन कर नही पा रहे हैं? या आप हर नए साल में नए संकल्प तो लें रहे है, लेकिन 3 – 4 महीनों के भीतर ही उसमे से आपके 25 प्रतिषद संकल्प टूट रहे हैं? और अब आपको ऐसा लग रहा है की परिवर्तन करना मुश्किल है? तो आज की यह Book Summary आपके लिए ही है।

दोस्तो अब आप जो पढ़ने वाले है, उसे पढ़ने के बाद आपका यह भ्रम टूटने वाला है की “जीवन में परिवर्तन करना मुश्किल है।” और उसके साथ ही आपको यह भी जानने को मिलने वाला है की “छोटे छोटे कदमों का इस्तमाल करके बड़े से बड़े लक्ष्य को कैसे हासिल कर सकते हैं?”

दोस्तो इस बुक समरी में, में आपके साथ कई रियल लाइफ एग्जांपल देकर समझाने वाला हु की, “परिवर्तन करना मुश्किल नहीं है।” और आप अपनी लाइफ में छोटे छोटे कदम उठाकर आप अपने सबसे बड़े सपने को हासिल कर सकते है।

दोस्तो उसके साथ ही इस किताब में बताए गए कारगर सिद्ध टेकनिक्स के बारे में बताने वाला हू, जो आपकी जिंदगी बदल सकते हैं। दोस्तो क्या आप अपनी लाइफ को बदलने के लिए तैयार है? तो चलिए मेरे साथ में आपको इस किताब के जरिए बताता हु की परिवर्तन करना मुश्किल नहीं है।

दोस्तो यदि आप ऐसा परिवर्तन करना चाहते हैं – जो स्थायी हो, तो मैं आपके साथ लाइफ बदल देने वाला रहस्य शेयर करने वाला हु, और वो रहस्य है,“काइज़ेन”। दोस्तो आप काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करके आप अपने किसी भी लक्ष्य को हासिल कर सकते है।

आप सिगरेट पीने जैसी बुरी आदतों को भी बदल सकते हैं, या आपके अंदर कोई भी बुरी आदत हो, जो आपको सफलता हासिल करने से रोक रही है, उससे भी छुटकारा पा सकते हैं, और उसकी जगह आप अच्छी आदतों को अपना सकते हैं। तो सबसे पहले जानते हैं की आखिर काइज़ेन तकनीक क्या है?

काइज़ेन तकनीक क्या है? – Kaizen Technique Kya Hai in Hindi?

दोस्तो किसी भी आदत को बदलने या अपने प्रोडक्ट को बेहतर बनाने के लिए बहुत ही छोटे छोटे कदमों को इस्तमाल करना उसे काइज़ेन कहते हैं। दोस्तो में आपको एक एक्जाप्मल देकर समझाता हूं, की काइज़ेन तकनीक क्या है? और काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करके अपने जीवन को कैसे बदलें।

दोस्तो जब आप अपने आपको बदलने के बारे में सोचते हैं, तो आपके अंदर से बहुत सारी एनर्जी आ जाती है, और आप ऐसा सोचते हैं, अब में अपनी लाइफ को बदलने वाला हु, और आप अपनी लाइफ को बदलने के लिए आप ऐसा सोचते हैं की में कौन कौन से ऐसे बड़े कदम ले सकता हूं।

यानी आप सोचते हैं की में हर रोज सुबह जल्दी उठकर जीम जाऊंगा या में आज ही अपने बिजनेस की शुरुआत करूंगा। लेकिन फिर उसके बाद क्या होता है, ऑल मोस्ट हमेशा की तरह कुछ ही दिनों के बाद आपकी सारी एनर्जी चली जाती है और आप वही पहुंच जाते हैं, जहा से आपने शुरुआत की हुई थी।

दोस्तो हो सकता है की उसके बाद आप यूट्यूब पर जाकर मोटिवेशनल विडियोज देखले, और फिर बहुत सारा मोटिवेशन ले आए और फिर कुछ दिनों के बाद वो सारा मोटिवेशन फिर से कही गायब हो जाता है। और ये हर किसी के साथ होता है ओर ये इसीलिए होता है, क्योंकि हम सब लोगों ने 2 बड़े झूट पर विश्वास कर लिया हुआ है और वो 2 झूट है।👇👇👇

झूठ नंबर 1 : बदलना बहुत मुश्किल है।

दोस्तो आपको लगता है की बदलना बहुत मुश्किल है, क्योंकि आपको लगता है की अगर आपको बदलना है, तो इसके लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करनी होगी।

झूठ नंबर 2 : सिर्फ बड़े कदम लेने से ही बड़े रिजल्ट मिलते हैं।

दोस्तो यहा पर आप ऐसा सोचते हैं की अगर मुझे 30kg कम करना है, तो इसके लिए मुझे बहुत बड़े कदम लेने होंगे, जैसे की मुझे अपनी डाइट को पूरी तरीके से बदलनी होंगी और मुझे हर रोज 1 घंटे Jym जाना होंगा एक्सेट्रा एक्सेट्रा…

दोस्तो अगर में आपको बताऊं की रॉबर्ट मोउरर जो इस किताब के लेखक है, उनके हिसाब से सिर्फ एक छोटा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है। और ये कदम इतना छोटा भी हो सकता है की आपको वो बोलने से शरम भी आए।

मान लीजिए अगर आप हर दिन सुबह 8.00 बजे उठते हैं और आप हर दिन सुबह जल्दी उठना चाहते हैं, लेकिन उठ ही नही पा रहे हैं? तो इसे करने के लिए आपको अगले दिन सुबह 6 बजे ना उठकर बल्कि 7.50 पर ही उठना है।

दोस्तो आप सही ही पढ़ रहे हैं, बस इतना छोटा सा कदम लेने पर भी आपकी जिंदगी में बहुत बड़े रिजल्ट्स आ सकते हैं, कैसे आइए जानते हैं। लेकिन उससे पहले ये याद रखिए की इस आर्टिकल को पढ़ने का छोटा कदम जो आपने अभी लिया हुआ है, वो भी आपकी जिंदगी बदल सकता है, इसीलिए इसे अंत तक जरूर पढ़िए।

जानिए कैसे एक महिला ने काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करके अपने जीवन को बदला।

दोस्तो इस किताब के लेखक एक साइकोलॉजिस्ट है और उनकी एक पेशेंट थी, जिसका नाम जुली था। जुली 30 kg ओवर वेट थी और 2 jobs पर काम कर रही थीं और उसके साथ ही वो अपने दो बच्चों का भी खयाल रख रही थी। उसके वजह से उसके पास व्यायाम करने के लिए और अपने हेल्थ के लिए कुछ भी अच्छा करने के लिए उसके पास थोड़ा भी टाइम नही बचता था।

डॉक्टर्स ने जुली को वेट लॉस करने के लिए कहा था, वरना उसको बहुत ज्यादा हेल्थ की प्रोब्लम का सामना करना पड़ेगा। इतना कहने के बाद भी जुली ने कभी भी एक्सरसाइज नही किया। फिर ऑथर रॉबर्ट जी ने सोचा की “उसने अपने पेशेंट्स को जब भी व्यायाम करने के लिए बोलते थे तो वो सिर्फ एक या दो दिन एक्सरसाइज करते और फिर उसके बाद ज्यादातर लोग छोड़ देते थे, और कोई भी लंबे समय तक व्यायाम को जारी नही रख पाते थे।”

फिर एकदम से उनको जापानी फार्मूले का एक आइडिया आया, जिसका नाम था Kaizen। जिसे दूसरे वर्ल्ड वॉर के बाद जापान ने अपने इकोनोमी को बढ़ाने के लिए इस्तमाल किया हुआ था। दोस्तो दूसरे वर्ल्ड वॉर के बाद जापनीस इकोनोमी एकदम से खत्म हो गई थी।

तब जापान के लोगों ने सिर्फ छोटे छोटे कदमों को उठाया था, जो उनको उनके गोल्स की तरफ लेके जाए, और ऐसे सैंकड़ों छोटे छोटे कदमों को उठाकर उन्होंने अपने बड़े से बड़े लक्ष्यो को हासिल किया हुआ था। यानी उन्होंने काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल किया हुआ था।

तो लेखक रॉबर्ट ने अपनी पेशेंट जुली को भी वही काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करने के लिए कहा। उन्होंने जुली से कहा कि “तुम हर रोज आधे घंटे एक्सरसाइज करने के बजाय सिर्फ हर रोज 1 मिनिट के लिए टीवी के सामने जॉग कर सकती हो? फिर जुली ने कहा की हां जरूर कर सकती हूं।

फिर एक हफ्ते के बाद जुली ने अपने डॉक्टर को खुशी से बताया कि मैंने एक मिनट टीवी के सामने जॉग किया। फिर लेखक ने जुली से कहा की क्या अब तुम 2 मिनट के लिए कर सकती हो? और उसने किया भी और ऐसे ही सिलसिला चलता रहा। और धीरे धीरे जुली के अंदर इतनी विल पावर आ गई की वो हर दिन 30 मिनट के लिए जॉगिंग और एक्सरसाइज करने लगी, जो उसने पहले कभी सोचा भी नही था।

उसके बाद जुली ने अपना वेट लॉस भी कर दिया और वो पहले से ओर ज्यादा स्वस्थ और खुशहाल जीवन जीने लगी। दोस्तो देखा आपने की कैसे छोटे छोटे कदमों को उठाकर बड़े बड़े बदलाव लाए जा सकते है। दोस्तो अब आप सोच रहे होगे की “क्या ये कुछ ज्यादा ही धीरे वाला तरीका नही है?

और आपके मन में यह भी प्रश्न जरूर आया होगा की अगर कोई व्यक्ति हर रोज सिर्फ 1 मिनिट के लिए एक्सरसाइज करता है, तो उसको वेट लॉस करने में कैसे फायदा होगा? तो में आपको बताना चाहूंगा कि आपको सबसे पहले ये समझना पड़ेगा की काइज़ेन तकनीक काम क्यों करता है और फिर आपको सबकुछ समझ में आ जाएगा।

काइज़ेन तकनीक कारगर क्यों है और ये कैसे काम करता है?

दोस्तो हम इंसानों का दिमाग इसी तरह का बनाया हुआ है की उसे कोई भी चीज बदलती हुई पसंद नही आती है और हमारे दिमाग को बदलाव से नफरत है। इसीलिए जब भी हम अपने अंदर कुछ भी बदलना चाहेंगे, तो हमारे दिमाग में बहुत सारा डर पैदा हो जाता है।

डरना अच्छी चीज होती , तब जब 👇👇

पुराने जमाने में जब हम जंगलों में रहते थे, तब ये काफी अच्छी चीज थी, यानी अगर किसी झाड़ी में आपको कुछ हिलता हुआ दिख गया तो उसका मतलब हो सकता है की उस झाड़ी के पीछे कोई शेर हो, इसीलिए डरना यहां अच्छी चीज होती, ताकि हमारी जान बच सकें।

लेकिन दोस्तो आज कल के जमाने में ये इतना फायदेमंद नही है, क्योंकि अब हमारा environment उतना खतरनाक नहीं है, जितना की पहले था। लेकिन अब भी हम लोगों के दिमाग वैसे ही है, जैसे उस जमाने में थे।

इसलिए जब भी हम खुद से बोलते हैं की अब में अपने जीवन में बहुत बड़े बदलाव लाने वाला हु, और फिर आप बड़े कदम लेने वाले होते हैं, जैसे की मैराथोन में दौड़ना या एक नया बिजनेस शुरू करना, या बॉडी बनाना। तो आपका दिमाग आपके अंदर डर पैदा करता है, क्योंकि आपके दिमाग के लिए ये बहुत ही बड़ा बदलाव होता है।

दोस्तो आपने अपनी एक्जाम में भी यह देखा होंगा की हम लोगो को अपनी बोर्ड एग्जाम के पहले कितनी स्ट्रेस और एंजायिटी होती है, लेकिन वही पर जब हमारी क्लास टेस्ट होती है, तो हमे जरा सा भी डर नही लगता है। ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि बोर्ड एग्जाम आपके लिए बहुत ही बड़ा गोल होता है, ओर उसकी वजह से आपके अंदर डर पैदा होता है।

लेकिन एक छोटे मोटे टेस्ट के लिए आप क्या ही डरेंगे। काइज़ेन इसीलिए काम करता है क्योंकि आप अपने बड़े गोल पर फोकस ही नहीं करते और आप अपने बड़े लक्ष्य को देखकर डर नही जाते की यार कितनी मेहनत करनी पड़ेगी। बल्कि आप सिर्फ अपने अगले छोटे से गोल के बारे में ही सोचते हैं और उसपर ही काम करते हैं और उसे ही पूरा करते हैं।

दोस्तो काइज़ेन का इस्तमाल करके हम अपने सोचने का तरीका बदल सकते है और रिलेशनशिप में भी इसका उस्तमाल कर सकते है और अपनी बुरी आदतों को भी बदलने और उसकी जगह अच्छी आदतों को अपनाने के लिए भी काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल कर सकते है। और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की आप इसका इस्तमाल अपने बिजनेस को ग्रो करने के लिए भी कर सकते है।

दोस्तो छोटे छोटे काम करना ये काइज़ेन की मैन फाइलोसॉपी है। अगर आप अपने लक्ष्य को हासिल करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको इतने छोटे छोटे कदम लेने होंगे की आपको ये बेवखूपी भरे लगेंगे, और आपको लगेगा की यार में क्या कर रहा हूं और ये चीज करने से मुझे भला क्या फायदा मिलेगा।

दोस्तो अब जानते हैं की अगर आप छोटे छोटे कदम लेते हैं, तो आपको क्या फायदा होगा। अगर आप छोटे छोटे कदम लेते हैं, तो आपके दिमाग में डर पैदा नही होंगा और आप धीरे धीरे बिना किसी दर्द के आपके अंदर थोड़ा ओर काम करने के लिए एक एनर्जी आ जायेगी। और इसी के वजह से आप अपने बड़े से बड़े लक्ष्य को पूरा कर पाएंगे।

दोस्तो इस किताब में छोटे छोटे कदमों के बहुत सारे examples दिए हुए है। जैसे अगर आप पैसे बचाना चाहते हैं? तो जब आप अगली शोपिंग करने के लिए चले जायेंगे तो अपने शोपिंग कार्ट से एक आयटम को निकाल दे। या अगर आप exersise करना चाहते हैं, तो आप स्टार्टिंग में सिर्फ 1 मिनिट व्यायाम कीजिए।

या अगर आप सुबह जल्दी उठने की आदत डालना चाहते हैं? ओर आप हर दिन 8 बजे उठते हैं, तो आपको अगले दिन सिर्फ 7:50 पर ही उठना है, ना की 6 बजे। क्योंकि अगर आप पहले ही दिन 6 बजे उठ गए तो आप ऐसे सिर्फ 1 या 2 दिन उठेंगे और उसके अगले ही दिन आपका मोटिवेशन खतम हो जायेगा और आप फिर से 8 बजे उठना शुरू कर देंगे।

लेकिन अगर आपको हर दिन सुबह जल्दी उठना है, तो आपको काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करना होगा। यानी आपको एक टाइम टेबल सेट करना है, जैसे की पहले दिन आपको 7:50 ही उठना है, और आप उठेंगे भी, क्योंकि 7:50 उठने के लिए आपको कुछ भी मेहनत नहीं करनी पड़ेगी और आपको डर नही लगेगा, जैसे 5 या 6 बजे उठने पर लगता है।

जब आप 7:50 उठने के गोल को सफलता पूर्वक पूरा कर लेंगे, तो आपके मन में एक विश्वास पैदा हो जायेगा की अगर में 7:50 बजे उठ सकता हूं, तो में 7:45 पर भी उठ सकता हूं और यही विश्वास आपको आपके अगले उससे और बड़े गोल को पूरा करने के लिए ईंधन का काम करेगा।

दोस्तो फिर उसके अगले दिन के लिए आपको 7:40 का अलार्म सेट करना है, और उसे पूरा करना है, और में यकीन के साथ कह सकता हूं की, आप उसे पूरा कर लेंगे। उसके बाद आपको और 5 या 10 मिनिट का टाइम ओर कम करते जाना है और ऐसे करते आप एक दिन जरूर 6 बजे या 5 बजे जरूर उठने लग जायेंगे।

दोस्तो आपको ऐसे ऐसे छोटे छोटे गोल्स को सेट करते जाना है और उन्हें पूरा करते जाना है। इससे होगा यह की एक दिन आप उस बड़े से बड़े लक्ष्य को हासिल कर लेंगे, जिसे पूरा करना आपको इंपोसिबल सा लग रहा था।

दोस्तो इस तरह के छोटे छोटे कदम लेने के वजह से आप अपने डर को काबू में करना सिख रहे हैं ओर आप एक नई आदत को डाल रहे हैं, ये आपको पता होना चाहिए। और जो लोग काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करने के बाद भी सफल नहीं बन पाते, वो इसीलिए नही बन पाते की काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करना मुश्किल है, बल्कि वो इसीलिए क्योंकि ये करना बहुत आसान है।

उन लोगों के ये समझ में ही नहीं आता है की इतनी आसान चीज करने से वो कैसे ओर ज्यादा सफल बन सकते हैं। उन लोगों को हमेशा यह लगता है की दर्द होना चाहिए, तभी हम सफल हो सकते है और तभी हमे हमारा लक्ष्य मिल सकता है।

दोस्तो हम सोचते हैं की अगर हम अपने दिमाग में अपने आपको डाटेंगे नही और खुद को और तेज मेहनत करने के लिए बोलेंगे नही तो results कैसे मिलेंगे? लेकिन दोस्तो काइज़ेन की फिलोसॉफी बिलकुल अगल है और वो हमे कहती हैं की “थोड़ा धीरज रखिए और आराम से काम करिए लेकिन हर रोज थोड़ा थोड़ा करके करिए।”

आपको ये विश्वास रखना चाहिए की यही वो छोटे छोटे कदम है, जो आपको आपके बड़े लक्ष्य तक पहुंचाएंगे। दोस्तो एक और तरीका है जिसमे आप काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करके अपने बड़े से बड़े लक्ष्य को छोटे छोटे गोल्स में कन्वर्ट करके उन्हें पूरा कर सकते है। और वो तरीका है अपने आपसे छोटे छोटे प्रश्न पूछे।

मान लीजिए अगर आपको किसी एक गोल को पूरा करना है, यानी आपको इस साल में पहले से और ज्यादा पैसे कमाने है, तो आप अपने आप से एक छोटा सा प्रश्न पूछिए की सबसे छोटी वो चीज क्या हो सकती है, जिसे करने के बाद आप थोड़ा और ज्यादा पैसे कमा सकते है। उसका जवाब ऐसा हो सकता है कि ,👇👇👇

आप आधा घंटा ओर ज्यादा काम करेंगे या एक ओर फोन कॉल करेंगे एक पोटेंशियल क्लाइंट को। दोस्तो आप अपने स्ट्रेस को कम करने के लिए ये भी पूछ सकते है की सबसे छोटी वो चीज क्या है जिसे करने के बाद मेरा स्ट्रेस पहले से थोड़ा ओर कम हो जाएगा?

उसका उत्तर ये भी हो सकता है की 5 गहरी सांसे लो या सिर्फ 2 मिनिट के लिए मेडिटेशन करो। दोस्तो अब आप समझ ही गए होंगे की आखिर काइज़ेन तकनीक है क्या और इसका इस्तमाल कैसे करे? दोस्तो आपने काफी बार देखा होंगा की कुछ लोग वेट लॉस कर भी लेते है, लेकिन उनका वेट गेन भी बहुत ही जल्दी हो जाता है।

दोस्तो ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि उन्होंने काइज़ेन की फाइलोसॉपी को use ही नही किया। यानी उन्होंने एक्सरसाइज करने की आदत ही नही बनाई , भले ही उन्होंने एक साथ ज्यादा मेहनत करके रिजल्ट्स हासिल भी कर लिए होंगे, लेकिन उसे आदत में कन्वर्ट ना करने वजह से उनके वो रिजल्ट्स उतने ही जल्दी चले भी जाते हैं।

अब हो सकता है की आपने काफी लोगो के बारे में सुना होंगा जिन्होंने एकदम से उठकर के अपनी जिंदगी को बदल दी, जैसे की डेविड गोगिंस जी जिन्होंने एकदम से उठके नेवी सील बनने का डिसीजन लिया और उसपर काम करके नेवी सील बने भी। और उन्होंने काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल थोड़ा भी नही किया।

और आपका ऐसा सोचना भी सही है और में भी इस किताब को पढ़ते वक्त ऐसा सोच रहा था। लेकिन दोस्तो इस पर लेखक का कहना है की अगर आप किसी भी गोल को पूरा करने के लिए काइज़ेन तकनीक का इस्तमाल करते हैं, तो आपको हार का सामना कम से कम करना पड़ेगा।

वही पर अगर आप नवाचार का इस्तमाल करते हैं, तो हो सकता है कि आप किसी भी गोल को अचीव करने में सफल भी हो जायेगे, डेविड जी की तरह लेकिन हारने की संभावना बहुत ज्यादा रहती है। दोस्तो सबसे पहले ये जानते है की नवाचार क्या है?

दोस्तो नवाचार यानी की आपने एक बार किसी एक गोल को पूरा करने के लिए डिसीजन लिया और उसे पूरा करने के लिए काम पर लग गए। और उसमे आखिर तक टिक कर बहुत ज्यादा संघर्ष करने के बाद सफल हो जाना। जैसे की डेविड गोगिंस जी हो गए थे।

दोस्तो अगर आपको उनकी संघर्ष कथा हिंदी में पढ़ना चाहते है, तो उसकी लिंक ऊपर दी हुई है। दोस्तो अब आपको पता चल ही गया होगा की कैसे एक छोटा सा कदम आपकी जिंदगी बदल सकता है। दोस्तो अगर आपको काइज़ेन तकनीक के बारे में और अधिक जानकारी जानना हैं? तो आप इस किताब को पूरा पढ़ सकते हैं।

हमारे अन्य आर्टिकल्स :

Conclusion of One Small Step Can Change Your Life Book Summary in Hindi:

दोस्तो आपको एक चीज हमेशा याद रखनी है की “आपको हररोज अपने गोल की तरफ एक छोटा कदम लेना है और उसके साथ आपको धैर्य भी रखना है। दोस्तो आप मुझे नीचे Comment Box में कमेंट करके जरूर बताएं की क्या वो छोटी चीज है, जिसे अब आप करने वाले है?

दोस्तो अगर आपको One Small Step Can Change Your Life Book Summary in Hindi आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होंगा तो अपने दोस्तो और फ़ैमिली वालों के साथ अवश्य शेयर कीजिए, ताकि और लोगो को भी पता चल सके कि कैसे एक छोटा सा कदम उनकी भी जिंदगी बदल सकता है?

One Small Step Can Change Your Life in Hindi PDF Free Download

दोस्तो अगर आप One Small Step Can Change Your Life Book in Hindi PDF Free Download करना चाहते हैं? तो आप नीचे दिए गए डाउनलोड लिंक पर क्लिक करके आप One Small Step Can Change Your Life in Hindi PDF Free Download कर सकते है।

One Small Step Can Change Your Life Book in Hindi PDF Free Download <—

दोस्तो आज के इस One Small Step Can Change Your Life Book Summary in Hindi आर्टिकल में सिर्फ इतना ही, दोस्तों हम आपसे फिर मिलेंगे ऐसे ही एक इंट्रेस्टिंग और लाइफ चेंजिंग आर्टिकल के साथ तब तक के लिए आप जहा भी रहिए खुश रहिए और खुशियां बांटते रहिए।

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद 🙏🙏🙏

अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिये.

Leave a Comment