जाने मोबाइल रेडिएशन के नुकसान क्या है और मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें?

जानें मोबाइल रेडिएशन क्या है, मोबाइल रेडिएशन के नुकसान क्या है, मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें, मोबाइल रेडिएशन से बचने के उपाय क्या है?

नमस्कार दोस्तों आप सभी का नॉलेज ग्रो सेल्फ हेल्प ब्लॉग पर स्वागत है। दोस्तो आज का यह आर्टिकल आप सभी के लिए बहुत ही useful और interesting साबित होने वाला है, इसीलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़िए।

जाने मोबाइल रेडिएशन के नुकसान क्या है और मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें?

दोस्तो क्या आप मेरी ही तरह अपने काम के कारण मोबाइल या लैपटॉप पर बहुत सारा समय बिताते हैं? या आप बिना कारण के भी बिताते हैं? तो भी आज का यह आर्टिकल आपके लिए ही है।

क्योंकि इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताने वाले हैं की आप इन सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का फायदा लेते हुए उनके द्वारा होने वाली हार्मफूल रेडिएशन से खुद को कैसे बचा सकते है। तो चलिए आर्टिकल की शुरुआत करते हैं।

मोबाइल रेडिएशन के नुकसान क्या है और मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें?
image credit: istockphoto.com

मोबाइल रेडिएशन क्या है? – What is Mobile Radiation in Hindi

दोस्तो मोबाइल फोन्स, लैपटॉप, वाईफाई राउटर और स्मार्ट वॉचेस ये सभी डिवाइसेस इलेक्ट्रो मैगेंटिक रेडिएशन प्रेड्यूज करते हैं, जिसे हम EMF Radiation भी कहते हैं। ये EMF Radiation हमारे आंखो को दिखती नही है, लेकिन सिर्फ किसी चीज को हम अपनी आंखों से देख नही सकते, तो उसका मतलब यह नहीं है की वो चीज असल में होती ही नहीं है।

दोस्तों जैसे जैसे हम 2G से 3G, 3G से 4G और 4G से 5G की और बढ़ रही है और हमारी टेक्नोलॉजी फास्ट तो हो रही है, लेकिन उसके साथ ही इन सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से निकलने वाली हानिकारक रेडिएशन भी और स्ट्रॉन्ग होती जा रही है।

Unfortunately जब हम लंबे समय तक अपने आपको इस रेडिएशन से एक्सपोस करके रखते हैं, तो उसका हमारे हेल्थ पर भी बहुत बुरा इंपैक्ट पड़ता है। इसीलिए आज हम जानेंगे की 3 तरीकों से अपनी और अपने परिवार को इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से निकलने वाली हानिकारक रेडिएशन से प्रोटेक्ट कैसे करे?

मोबाइल रेडिएशन के नुकसान क्या है – Mobile Radiation Ke Nuksan in Hindi

1. कान में लंबे समय तक मोबाइल लगाकर बात करने से दिमाग और बुद्धि की शक्ति डैमेज होने लगती है। क्योंकि मोबाइल का रेडिएशन न्यूरॉन्स को negatively impact करता है, और नर्वस सिस्टम के फंक्शन में डिस्टरबेंस पैदा करता है। इसीलिए फोन पर बात करते वक्त इयरफोन लगाकर बात करें और जितना हो सके कम ही बात करें।

2. मोबाइल के रेडिएशन से ब्रेन का फंक्शन प्रभावित होता है। जिससे शरीर से जुड़े बाकी ऑर्गन सिस्टम जैसे की हार्ट, लिवर, किडनी और पाचन संस्था इन सभी ऑर्गेनो पर बहुत बुरा affect पड़ता है।

3. मोबाइल का इस्तमाल ज्यादा करने के वजह से ब्रेन ट्यूमर होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है। इसीलिए मोबाइल फोन का इस्तमाल सिर्फ अपने काम के लिए ही करे, ना की टाइम पास करने के लिए।

4. मोबाइल के वजह से व्यक्ति का कॉन्सनट्रेशन पॉवर कम हो जाती है। और उसके साथ ही वह व्यक्ति बहुत चिड़चिड़ा हो जाता है।

5. मोबाइल का इस्तमाल ज्यादा करने से पुरुषो में शुक्राणुओ की कमी हो जाती है, जिसके कारण नपुंसक होने के संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है।

6. मोबाइल का इस्तमाल ज्यादा करने से लॉन्ग टर्म में आपके आंखो की रोशनी कम होने लगती हैं।

मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें – Mobile ke Radiation Se Kaise Bache

दोस्तो अब हम बात करने वालें है की मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें? तो चलिए आसान भाषा में जानते हैं की मोबाइल रेडिएशन से बचने के उपाय क्या है।

अपने Mobile Phone को अपनी Body से चिपकाके न रखे।

दोस्तो हमारा मोबाइल फोन देखने में तो बहुत ही इनोसेंट लगता है, लेकिन अच्यूअली ये बहुत ही पावरफुल मशीन है। जिसको हम हर समय अपनी मुठ्ठी में लेकर घूमते रहते हैं। ईवन जो मोबाइल फोन बहुत ही छोटे होते है, वे मोबाइल फोन्स बहुत ही ज्यादा रेडिएशन प्रोड्यूस करते हैं।

और आज कल तो ये हो गया है कि हम हर समय अपने मोबाइल को अपने बॉडी के साथ चिपकाके रखते हैं। यानी की जब हमे इसकी जरूरत भी नहीं होती है, तब भी हम अपने मोबाइल फोन को अपनी जेब में रखकर रखते हैं।

जब हम अपने घर में एक कमरे से दूसरे कमरे में जाते हैं, तब भी हम अपने मोबाइल फोन को अपने हाथ में पकड़कर चले जाते हैं। और ऑफिस में हर समय अपने मोबाइल फोन को अपनी जेब में रखते हैं। दोस्तो हम समझते हैं की आपका मोबाइल फोन आपके लाइफ का importent पार्ट है।

लेकिन आप इसका स्मार्टली use करिए ना ताकि आपको इसके फायदे मिल सके ना की नुकसान मिले। अगर आपको फोन पर लंबे समय तक बात करनी पड़े, तो आप इयरफोन को लगाकर बात कीजिए, न की मोबाइल को directly अपने कान से लगाए।

या फिर आप अपने फोन का लाउड स्पीकर ऑन करके अपने मोबाइल को खुद से थोड़ा दूर रखकर बात कीजिए। अगर आप लंबे समय तक अपने मोबाइल फोन को अपने कान से चिपकाए रखते हैं, तो वो सारी रेडिएशन आपके हेड के द्वारा आपके brain तक पहुंच जाती हैं।

दोस्तो अपने मोबाइल फोन और अपने बीच में दूरी बनाए रखने के लिए एक और जरूरी चीज ये है की आपको अपने फोन को अपने जेब में या शर्ट के पॉकेट में नही रखना है, बल्की इसकी बजाय आपको अपने फोन को अपने बैग में या अपनी पर्स में रखना है। ताकि वो आपकी बॉडी से डायरेक्टली टच ना हो।

अपने Mobile Phone को सोते वक्त खुद से दूर रखे।

दोस्तों रात को सोते वक्त आपको अपने फोन को अपने तकिए के नीचे रखकर मत सोइए। इसके बजाय आप अपने फोन को aeroplane mode पर रखकर अपने 🛏️ बेड से कम से कम 2 से 3 फिट की दूरी पर रखे।

दोस्तो मोबाइल में एयरोप्लेन मोड ऑन करने पर मोबाइल की रेडिएशन ना के बराबर हो जाती हैं। इसलिए सोते वक्त मोबाइल को aeroplane mode पर रखकर अपने 🛏️ बेड से कम से कम 2 से 3 फिट की दूरी पर रखे।

अपने बेडरूम में Wifi या Router बिलकुल भी न रखें।

दोस्तो में ऐसे बहुत लोगो को जानता हूं, जो अपने बेडरूम में ही अपने सर के एकदम उपर ही wifi router को रखकर सोते हैं और पूरी रात उसको on रखके सोते हैं। इससे होता यह की आपकी नींद खराब हो जाती हैं और आपके अंदर सोते वक्त जो हीलिंग और रिपेयरिंग की प्रोसेस हो रही होती है, उसमे बाधा उत्पन्न होने लगती हैं।

इसीलिए दोस्तो अपने बेडरूम में wifi या router को बिलकुल भी न रखें। या फिर सोते वक्त wifi router को बंद करके रखे और सुबह को ही उसे on कर दे। या फिर उसे ऐसी जगह पर रखिए जहा पर आप दिन का ज्यादातर समय ना बिताते हों।

लैपटॉप रेडिएशन से कैसे बचें?

दोस्तों अब हम जानते है की लैपटॉप रेडिएशन से कैसे बचें? और लैपटॉप रेडिएशन से बचने के उपाय क्या क्या है? जानिए हिंदी में।

अपने लैपटॉप और अपने बीच दूरी बनाए रखें।

दोस्तो जो लोग हर रोज लैपटॉप पर काम करते हैं, उसमे से ज्यादातर लोग अपने लैपटॉप को अपने गोद में लेकर काम करते हैं। लेकिन इस तरह से अपने लैपटॉप को अपनी गोद में लेकर काम करने से ये EMF Radiation डायरेक्टली आपके रिप्रोडक्टिव पार्ट्स में ट्रैवल करती है और ये आपकी फर्टिलिटी को इफैक्ट करती है।

और उसके वजह से बाद में आपको इनफर्टिलिटी की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। जिसे हिंदी में बांझपन भी कहा जाता है. अगर आप आगे जाकर EMF Radiation से होने वाले नुकसानों से बचना चाहते हैं? तो आपको अपने लैपटॉप और अपने बीच में कम से कम १ फिट की दूरी बनाए रखनी है।

यानी कि जब भी आप अपने लैपटॉप पर काम करने के लिए जाओगे, तो आपको अपने लैपटॉप को एक टेबल पर रखना है और आपके लैपटॉप में और आपके बीच में कम से कम 1 फिट की दूरी रखिए। दोस्तों इससे EMF Radiation से होने वाले नुकसानों से बचने में आपको बहुत सहायता मिलेगी।

एडवांस टिप:

दोस्तो अपने लैपटॉप और अपने बीच में दूरी बनाए रखने के लिए आप एक्सटर्नल keyboard & Mouse को use कर सकते है। इससे होगा यह की आपके और आपके लैपटॉप के बीच में ज्यादा से ज्यादा दूरी बनी रहेगी और आप लैपटॉप के रेडिएशन से होने वाले नुकसानों से बच जायेंगे।

Mobile Radiation Effects on Newborn Baby in Hindi

दोस्तो क्या आपको पता है की EMF Radiation से सबसे ज्यादा इफेक्ट कौन होता है? तो में आपको बताना चाहूंगा की EMF Radiation से सबसे ज्यादा इफेक्ट छोटे छोटे बच्चे होते हैं। यानी की 0 age से लेकर 15 साल की age तक के बच्चो को EMF Radiation से बहुत ज्यादा हानी पहुंचती है।

क्योंकि बच्चो की बॉडी इस EMF Radiation के लिए बहुत ही सेंसेटिव होती है, क्योंकि उनका स्कल्प और दिमाग अडल्टस के मुकाबले बहुत ही ज्यादा soft और पतला होता है। तो अगर एक अडल्टस के सर में यह रेडिएशन कुछ इंच अंदर तक चली जाती हैं, तो बच्चो के सर में ये पूरी तरह से अंदर तक चली जाती हैं।

दोस्तो हमारे जन्म के वक्त यानी की 1900 से लेकर 2005 तक हमारे घरों में नाही मोबाइल था और नाही wifi router था। लेकिन अब वैसी सिच्वेशन नही रह गई है, क्योंकि अब 2 या 3 साल का बच्चा भी मोबाइल को अपने हाथ में लेकर यूट्यूब स्क्रोल कर रहा होता है।

क्योंकि दोस्तो आज हमारे बच्चे ऐसी दुनिया में पैदा हो रहे हैं, जो पूरी तरह से EMF Radiation से सराउंडेड है। और हम अपने बच्चो को EMF Radiation से बचाने के लिए कुछ भी नहीं कर रहे हैं।

बल्की इसकी बजाय हम उनको अपना फोन पकड़ा देते हैं और फिर वो बच्चा हर समय फोन पर यूट्यूब विडियोज देख रहा होता है या फिर वीडियो गेम्स खेल रहा होता है। अगर आपके बच्चे बहुत छोटे हैं, तो आप उनको जितना हो सके, मोबाइल या और भी इलेक्ट्रॉनिक वस्तुएं है, उनसे थोडा दूर ही रखिए।

अगर आपके बच्चे थोड़े बड़े है और उनको मोबाइल फोन गेम खेलने के लिए या फिर विडियोज देखने के लिए चाहिए ही चाहिए, तो आपको करना यह है की जब आपके बच्चे फोन को use कर रहे होते है, तो उस वक्त आपको आपके मोबाइल का aeroplain मोड on कर देना है।

और आपका बच्चा जिस भी वीडियो को देखना चाहता हैं, उसको पहले से ही डाउनलोड करके रखिएगा। और फिर उनको देखने के लिए दिजियेगा, लेकिन कम से कम टाइम के लिए न की ज्यादा टाइम तक। दोस्तो आपको अपने बच्चो की हेल्थ के लिए इतना तो करना ही पड़ेगा।

Mobile Radiation Effects on Pregnancy in Hindi

दोस्तों अगर आप एक प्रेग्नेट महिला है या फिर आपके घर में कोई प्रेग्नेट महिला है, तो आप इंशोर कीजिये की वो महिला या आप अपने लैपटॉप को अपने गोद में लेकर काम ना करे. क्यूंकि लैपटॉप से निकलने वाली वो सारी हार्मफुल रेडिएशन उस बच्चे तक आसानी से पहुचती है।

और फिर उस बच्चे के डेवलपमेंट में बाधा उत्पन्न करती है। इसीलिए अगर आप एक प्रेग्नेट महिला है या फिर आपके घर में कोई प्रेग्नेट महिला है, तो आप इंशोर कीजिये की वो महिला या आप अपने लैपटॉप को अपने गोद में लेकर काम ना करे.

दोस्तो आज के इस आर्टिकल के जरिए आपने सीखा की मोबाइल रेडिएशन क्या है, मोबाइल रेडिएशन के नुकसान क्या है, मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें। दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया होंगा और आपके लिए उपयोगी साबित हुआ होगा? तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तो के साथ फेसबुक और व्हाट्सएप पर अवश्य शेयर कीजिए।

Releted Posts:

दोस्तो आज के इस “मोबाइल रेडिएशन के नुकसान क्या है और मोबाइल रेडिएशन से कैसे बचें?” हिंदी आर्टिकल में सिर्फ इतना ही, दोस्तो हम आपसे फिर मिलेंगे ऐसे ही एक इंट्रेस्टिंग और सेल्फ हेल्प आर्टिकल के साथ, तब तक के लिए आप जहा भी रहिए खुश रहिए और खुशियां बांटते रहिए।

आपका बहुमूल्य समय हमे देने के लिए दिल से धन्यवाद 🙏🙏🙏

Tags:

mobile radiation effects on body in hindi, mobile radiation effects on pregnancy in Hindi, Mobile Radiation Effects in Hindi, mobile radiation protection chip, mobile radiation se hone wale nuksan, mobile ke radiation ke fayde aur nuksan

इससे सबंधित पूछे जाने वालें सवाल (FAQS):

क्या मोबाइल रेडिएशन खतरनाक है?

हाँ दोस्तों , मोबाइल रेडिएशन हमारे सेहत के लिए खतरनाक है और इससे होने वाले नुकसान और उपायों के बारे में जानने के लिए यह आर्टिकल जरुर पढ़े।

ज्यादा मोबाइल देखने से कौन सी बीमारी होती है?

ज्यादा मोबाइल देखने से आँखों की रौशनी कम हो जाती है और उसके साथ ही मानसिक बिमारिया भी होने लग जाती है।

क्या बिस्तर पर फोन रखकर सोना बुरा है?

बुरा तो नहीं है , लेकिन आपके ब्रेन के हेल्थ के लिए बहुत ही ज्यादा खतरनाक है।

तकिए के नीचे मोबाइल रखने से क्या होगा?

तकिए के नीचे मोबाइल रखने से मोबाइल से निकलने वाली खतरनाक EMF रेडिएशन से आपके ब्रेन पर और आपके बाकि के अन्य ऑर्गेनो पर बहुत बुरा affect पड़ता है।

क्या फोन बंद करने से रेडिएशन कम होता है?

हाँ, और जब आपका फ़ोन नेटवर्क को खोज रहा होता है तभी रेडिएशन निकलती है, लेकिन जब हम एरोप्लेन मोड को on करते है, तो रेडिएशन नहीं निकलता है।

मोबाइल फोन का रेडिएशन कितना होना चाहिए?

मोबाइल रेडीएशन के नियम अनुसार मोबाइल फोन का रेडिएशन SAR लेवल 1.6 W/Kg तक होना चाहिए , इससे ज्यादा नहीं होना चाहिए।

कौन सा मोबाइल ज्यादा रेडिएशन छोड़ता है?

एक एक्स्पेर्मेंट के अनुसार Motorola Edge मोबाइल सबसे ज्यादा रेडिएशन छोड़ता है।

अपने दोस्तों के साथ शेयर करें

Leave a Comment